KBC में 25 लाख रुपए जीतने के लालच में ज़िन्दगी भर की कमाई लगी ठिकाने, कहीं आपके पास भी तो नहीं आया ऐसा कॉल?

कौन बनेगा करोड़पति KBC में 25 लाख रूपए जीतने के लालच में महिला ने ठग के खाते में ट्रांसफर कर दिया 14 लाख

KBC यानी कौन बनेगा करोड़पति शायद ही कोई होगा जो इस पॉपुलर शो से परिचित ना हो केबीसी भारत का एक रियलिटी गेम शो है। जिसमें जीतने वाला मालामाल हो जाता है. केबीसी गेम शो में करंट अफेयर्स और जनरल नॉलेज जैसे सवाल पूछे जाते हैं. जिनके सही जवाब देने पर लोग करोड़ों रुपए जीत जाते हैं। बता दें कि केबीसी की शुरुआत सन 2000 में हुई थी और इसके होस्ट जाने-माने बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन है।

यूं तो केबीसी ने भारत में बहुत लोगों की जिंदगी कुछ ही समय में बिल्कुल बदल डाली है लेकिन अब इस शो के नाम पर ठगी जैसी वारदात सामने आ रही है जी हां कोई है जो इस शो से मालामाल हो रहा है और कोई इस शो के नाम पर कंगाल हो रहा है। हाल ही में केबीसी के नाम पर ठगी का एक मामला सामने आया है यह मामला आजमगढ़ जिले के मुबारकपुर का है।

azamgarh

मुबारकपुर में रहने वाली शहनाज बानो के पास 14 अक्टूबर के दिन एक कॉल आती है। जिस पर उन्हें बताया जाता है कि उनकी बेटी सबरीना ने कौन बनेगा करोड़पति गेम शो में 25 लाख रुपए का इनाम जीता है। यह सुनते ही शहनाज बानो का खुशी से ठिकाना नहीं था परंतु कहानी कुछ और होने वाली थी जिसका शहनाज को कभी अंदाजा ही नहीं रहा होगा।

दरअसल केबीसी के नाम पर 25 लाख रुपए देने वाले शख्स ने कागजी कार्यवाही के नाम पर शहनाज बानो से 14 लाख रुपए डिपॉजिट करने को कहा और उसके बाद कहा गया कि उनके खाते में 25 लाख रुपए भेज दिए जाएंगे। शहनाज बानो ने 25 लाख रुपए के लालच में 14 लाख रुपया देना ठीक समझा और इसके लिए उन्होंने अपने पति की सारी जमा पूंजी ही नहीं खुद के सारे आभूषण भी बेच दिए।

जब इन सबको बेच कर भी 14 लाख रुपए इकट्ठे ना हो सके तो उन्होंने इसके लिए रिश्तेदारों से कर्ज भी ले लिया। शहनाज बानो ने 14 लाख रुपये इकट्ठे कर शख्स द्वारा दिए गए अकाउंट नंबर में डिपाजिट करवा दिए। एक बार पैसे ट्रांसफर होने के बाद जिस नंबर से शहनाज बानो के पास फोन कॉल आई वह नंबर अब बंद हो गए।

कुछ दिनों के बाद जब कोई फोन कॉल नहीं आई तो शहनाज बानो को पता चला कि उनके साथ केबीसी के नाम पर ठगी हुई है। इसके बाद शहनाज बानो ने संबंधित थाना में इसकी सूचना दी। उक्त मामले पर मुबारकपुर थाना अध्यक्ष अखिलेश मिश्रा ने बताया कि उन्हें ऐसी ठगी की सूचना मिली है और यह मामला साइबर सेल को भेज दिया गया है।

आपको बता दें यही नहीं इससे पहले भी कई बार केबीसी के नाम पर लोगों के साथ ऐसी घटनाएं हुई हैं. जहां उनसे लाखों रुपए ऐंठ लिए जाते हैं।