Fact Check: 14 साल के इस ज्योतिष की कोरोना को लेकर भविष्यवाणी का पूरा सच क्या है, जानिए

Fact Check: 14 साल के इस ज्योतिष की कोरोना को लेकर भविष्यवाणी का पूरा सच क्या है, जानिए

जब भी कोई बड़ी घट’ना या राजनैतिक उठा पटक होती है, ऐसे में कई बार फर्जी ख़बरों और अफवा’हों का ढेर लग जाता है. इस वक़्त हमारे देश समेत दुनियाभर में कोरोना महामारी की चर्चा है, लोग रात दिन बस इसी विषय पर जानकारी लेने के इच्छुक हैं. ऐसे में कोरोना से जुड़ी कई बातें भी अफवा’हों के ज़रिये ख़बरों के बाज़ार को गर्म किये हुए है.

हाल ही में हमने देखा है, सोशल मीडया पर एक 14 साल के एक बच्चे की तस्वीर दिखाकर इस तरह का दावा किया जा रहा है कि इस 14 साल के ज्योतिषी ने कोरोना वायरस के आने की भविष्यवाणी आज से डेढ़ साल पहले ही कर दी थी. सोशल मीडिया पर एक अखबार की कटिंग घूम रही है, जिसमें लिखा भी है कि डेढ़ साल पहले इस बच्चे ने जो भविष्वाणी की थी तब लोगों ने उसका मज़ाक उड़ाया था, लेकिन अब जब इसकी बातें सही साबित हो रही हैं तो लोग उसको शेयर कर रहे हैं. (आर्काइव लिंक)

14 साल के ज्योतिषी ने कोरोना को लेकर की थी भविष्यवाणी?

Corona ko lekar Bhavishvani 14 saal ke jyotish ne

एक नज़र इधर भी डालें, जिसमें दावा किया गया है उन शब्दों को हम आपको पढ़ने के लिए, उसमें बिना कोई बदलाव के ज्यों का त्यों लिख दे रहे हैं.

यह 14 साल का बच्चा जिसका नाम अभीज्ञ आनंद है. यह कर्नाटक का रहने वाला है इसने डेढ़ साल पहले ही अपने यूट्यूब चैनल Conscience पर भविष्यवाणी कर दी थी की 2020 में मनुष्य और इंसान के बीच में भयानक जं’ग होगी. जिसमें पूरी दुनिया त्राहिमाम त्राहिमाम हो जाएगी. 30अप्रैल 2020 से अचानक इस बीमारी में विस्फोट होगा जिसमें कई देश इस में समा जाएंगे! इसने वही सुरक्षित रहेगा जो घर में रहेगा बाकी सब कुछ खत्म हो जाएगा. 29 मई तक विश्व की 80 पर्सेंट आबादी वायरस से ग्रसित हो जाएगी और विश्व की 20 पर्सेंट आबादी इसमें खत्म हो जाएगी। 30 मई से इसमें सुधार होने लगेगा जो 5 सितंबर तक चलेगा इस वायरस से अंतिम मौ’त 10 सितंबर को होगी उसके बाद या वायरस पूर्णतया खत्म हो जाएगा. परंतु इसके बाद कई देश भु’खमरी से ग्रसित हो जाएंगे चारों और लू’टपाट मचाएंगे कई देश अपना वर्चस्व खो देंगे. जब इस बालक ने वीडियो डाला था तो कई लोगों ने और भविष्य कर्ताओं ने इसका मजाक उड़ाया था मगर आज जब इसकी भविष्यवाणी वाला वह वीडियो सही हुआ तो सब लोग इसी को पूछ रहे हैं.

लिखने वाले की मुझे दूसरी लाइन में ये बात बहुत मज़ेदार लगी ‘मनुष्य और इंसान के बीच में भयानक जंग होगी’ इन भाई साहब को मनुष्य और इन्सान में क्या फर्क नज़र आ रहा है ये मेरी समझ से परे है. खैर अब आगे की बात करते हैं. नीचे दिया गया विडियो 20 मिनिट का है, जो अंग्रेज़ी में है इस विडियो के आखरी 5 मिनिट में हिंदी भाषा में समझाया गया है.

सोशल मीडिया पर इसी दावे के साथ इस 14 साल के ज्योतिष का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है. इस नाबालिग ज्योतिषी का नाम ‘अभीज्ञ आनंद’ है, विडियो में ये बच्चा कोरोना वायरस के इलाज के लिए दवा कर रहा है कि भगवान राम और कृष्ण का नाम लेने से कोरोना वायरस ख़त्म हो जाएगा. वह इस विडियो में कुछ मंत्र भी बता रहा है. सोशल मीडिया में यह वीडियो कई ग्रुप्स, लोगों की प्रोफाइल और कई फेसबुक के पेजों पर में शेयर किया जा रहा है.(आर्काइव लिंक).

अभीज्ञ नाम का यह बालक अपने आपको ज्योतिष होने का दावा करता है, जिसके अनुसार वह अपने वीडियो में यह दावा करता है कि नवंबर 2019 से अप्रैल 2020 तक, पूरी दुनिया पर बड़ा खत’रा आने वाला है. आपको बता दें कि उनका यह विडियो 22 अगस्त, 2019 को YouTube पर अपलोड किया गया था. इस वीडियो को अभी तक तकरीबन 54 लाख बार से भी ज़्यादा देखा जा चुका है.

हमने गौर से यह वीडियो पूरा सुना, इस विडियो में कथित ज्योतिष अभीज्ञ ने जो दावे किए हैं, उसके कुछ मैं पॉइंट हम यहां लिख रहे हैं. 14 साल के ज्योतिष के अनुसार उन्होंने इस महामारी के पीछे शनि, केतु, शुक्र ग्रहों को वजह बताया है. और कहा है कि नवंबर 2019 से अप्रैल 2020 के बीच ये स्तिथियाँ बनेंगी. लेकिन एक ख़ास बात हम आपको बता दें, इस विडियो में कहीं भी कोरना वायरस का ज़िक्र नहीं है और न ही किसी बीमारी का ज़िक्र.

  • इस अवधि के दौरान भारत और पाकिस्तान के बीच युध्ध होने की 99% तक संभावना है.
  • और इसी समय में सोना, चांदी और तेल के दाम बहुत बढ़ेंगे.
  • मध्य एशिया देशों के बीच जैसे अमेरिका-ईरान के बीच युध्द होगा.
  • भारत ऊर्जा का भंडार है, यहां ऊर्जा के बहुत कई पॉइंट हैं, जैसे अपने हाथ में एक्यूप्रेशर के पॉइंट्स होते हैं ठीक उसी प्रकार.

इस ज्योतिष के विडियो के अनुसार, भारत और पाकिस्तान के बीच यु’ध्द होने जैसे 99% संभावना का दावा झूठ साबित हुआ है. नवंबर 2019 से लेकर अप्रैल 2020 तक यानि के अभी तक भारत-पाक देशों के बीच किसी भी तरह से यु’द्ध होने वाले हालात नहीं बने हैं.

दूसरे दावे के अनुसार सोना-चांदी और तेल के दाम बढ़ेंगे. ये बात भी पूरी तरह से गलत साबित होती है. कोरोना महामारी के बाद से दुनियाभर के बाज़ारों में अस्थिरता बनी है, वेसे भी सोने-चांदी के दाम अक्सर ही घटते और बड़ते रहते हैं. इसके अलावा कच्चे तेल के दामों में भारी मंदी है, ये मान के चलिए कौड़ियों के भाव बिक रहा है.

तीसरा दावा भी गलत साबित होता दीखता है, क्यूंकि अमेरिका-ईरान के बीच भी यु’ध्द नहीं हुआ, हाँ दोनों देशों में 2019 की शुरुआत से ही खींचतान चली आ रही है. जब अभीज्ञ ने 22 अगस्त, 2019 को अपना यह वीडियो अपलोड किया था, उस समय भी इन दोनों दोनों देशों के बीच मनमुटाव जारी था, जो आज तक बना हुआ है.

चौथा दावा ये था कि भारत में ऊर्जा के बहुत केंद्र हैं, जैसे कि हाथ में एक्यूप्रेशर के पॉइंट्स होते हैं ये भी एक मन घडंत कथा है, इसका कोई वैज्ञानिक आधार उपलब्ध नहीं है. बिना सर पैर के कुछ भी कहीं भी जोड़ नहीं सकते.

इसके अलावा ज्योतिष अभीज्ञ अपने वीडियो में दो और दावे करते हैं, हालांकि ये किसी की अपनी व्यक्तिगत टूर पर राय भी हो सकती है. लेकिन ये प्रभावशाली दावे हैं जिनको हम आपके लिए यहां लिख रहे हैं.

  1. नास्तिकता दुनिया की समस्याओं की जड़ है. और पूरी दुनिया में ये फैला हुआ है.
  2. ज्योतिष निदान, भविष्यवाणी और इलाज करने वाला टूल है. दुनिया में ज्योतिष से कुछ भी ठीक किया जा सकता है.

जब हम लोग इन दोनों दावों पर बात करने बैठ जायेंगे, तो इस्नको नक़ारने और इनका पक्ष लेने के लिए कई तरह की बातें और तर्क सामने आ सकते हैं. ये बातें लोगों की निजी इच्छा पर भी निर्भर हैं, कौन किसको कितना मानता है और कितना नहीं. कई लोग हैं जो आपको सोशल मीडिया में भी दिख जायेंगे जो नास्तिक हैं.

फाइनल रिज़ल्ट ये रहा कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस 14 साल के ज्योतिष के वीडियो में किए दावों का कोई आधार नहीं है. इसके अलावा अभीज्ञ का एक और वीडियो वायरल हो रहा है. जिसमें वह दावा करते हैं कि कोरोना का इलाज मंत्रों द्वारा हो सकता है, मंत्र उस फ्रीक्वेंसी पर काम करते हैं, जहां वायरस मर जाता है. ये बात भी वैज्ञानिक आधार पर पूरी तरह से गलत है.

किसी भी तरह से आवाज़ की फ्रीक्वेंसी से कोरोना वायरस नहीं मरता है, और न ही तालियां बजाने से. उपर देखें 22 मार्च को लोगों द्वारा देश भर में तालियां और थालियां बजाने के बाद भी कुछ ऐसे पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हुए थे कि ऐसा करने से कोरोना मर जाएगा. उस समय भी सरकारी सूचना विभाग PIB ने इन तथ्यों को झूठा बताया था.

Leave a Comment