बड़ी खबर: मध्य प्रदेश में सरकार बनाने जा रही भाजपा, क्या कर्णाटक में सरकार बचा पायेगी?

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में चल रही उठा पटक के बीच अब कर्नाटक से सियासी नाटक की खबर आ है. गुरुवार को हुए बीजेपी विधायकों की बैठक में बीजेपी के विधायकों ने खुले तौर पर मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के विरोध में उनके कामकाज के तौर तरीकों पर सवाल खड़ा किया है. इसके बाद से यह कहा जा रहा है कि कर्नाटक बीजेपी में सब कुछ सही नहीं चल रहा है।

दरअसल गुरुवार को बीएस येदियुरप्पा की तरफ से विधायकों की बैठक बुलाई गई थी जिसमें बीजेपी के 16 विधायकों ने येदियुरप्पा के कामकाज पर सावल खड़े किए, इसके अलावा बीजेपी विधायकों ने उनके परिवार के दखल पर भी येदियुरप्पा पर जमकर ह’मला बोला।

बीजेपी विधायकों ने यह साफ साफ कहा कि हम खुले मंच से तो इनका विरोध नहीं करेंगे लेकिन बैठकों में हम जरूर उनका विरोध करेंगे. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के खिलाफ माहौल ऐसा बन गया कि वे कुछ बोल ही नहीं पाए और विधायकों ने लगातार उनपर आरोप पर आरोप लगाते रहे।

बीते कई दिनों से कर्नाटक की भारतीय जनता पार्टी में खटपट की खबरें सामने आई हैं. वही पिछले महीने फरवरी में दो भाजपा विधायकों ने पूर्व मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी. कुमारस्वामी से मुलाकात की थी. जिसके बाद बीजेपी में बगावत के सुर सामने आए थे।

गौरतलब है कि हाल ही में कर्नाटक में कैबिनेट का विस्तार किया गया था, जिसमें मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा दलबदलू नेताओं को अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया था. लेकिन बीजेपी के पुराने नेताओं को इसमें जगह नहीं मिली, जिसके चलते अब नेताओ में बगावत के सुर नज़र आ रहे है।

दरअसल, मध्यप्रदेश की तरह ही कर्नाटक में भी सियासी संकट गहराने लगा है. मध्य प्रदेश कांग्रेस के 22 विधायक इस्तीफा देकर बंगलुरू में है जिनके बारे में बताया जाता है कि ये सभी ज्योतिरादित्य सिंधिया के खेमे में हैं, और वह भी पार्टी बदल सकते है।

हलाकि कमलनाथ सरकार में इन विधायको का इस्तीफा अभी स्वीकार नहीं किया गया है. वही कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सभी विधायकों को बीजेपी ने बरगला रही है।

Leave a Comment