जहां पुलिस से मदद मांगने पर गो'ली मा'र दी जाती है’, पत्रकार की दिनदहा'ड़े ह#त्या पर भ'ड़के लोग

जहां पुलिस से मदद मांगने पर गो’ली मा’र दी जाती है’, पत्रकार की दिनदहा’ड़े ह#त्या पर भ’ड़के लोग

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लगे गाजियाबाद में कुछ दिन पहले ही बदमा’शों द्वारा एक पत्रकार की ह’त्या कर दी गई. इस पत्रकार का नाम विक्रम जोशी है. जोशी के सिर में गो’ली मा’रकर कुछ बदमाशों द्वारा ह#त्या कर दी गई. इस घ’टना के बाद लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा हैं और सोशल मीडिया पर भी इस घ’टना को लेकर काफी आक्रो’श देखने को मिल रहा है और लोग राज्य की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा रहे हैं.

सोशल मीडिया पर अनुराग धानदा नाम के एक यूजर ने इस घटना का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि इस शख्स को दिनदहा’ड़े सरेआ’म सि’र में गो’ली मा’र दी गई, आप जानते है क्यों? क्योंकि इसने अपनी भांजी के साथ छे’ड़छा’ड़ करने वालों की शिकायत यूपी पुलिस से कर दी थी.

उन्होंने आगे लिखा कि इस बार यूपी का गाजियाबाद शहर है पर कहानी वही है, पुलिस, गुं’डे और वो. अनुराग का यह ट्वीट कुछ ही देर में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसे शेयर करते हुए वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी ने बताया कि इस शख्स का नाम विक्रम जोशी हैं.

विनोद ने ट्वीट में लिखा कि जोशी ने चार दिन पहले अपनी भांजी के साथ छे’ड़खा’नी करने वाले कुछ लड़कों के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी. पुलिस ने उन लड़कों को गिरफ्तार नहीं किया और ना कोई कार्रवाई की. लेकिन उन लड़कों ने विक्रम को गो’ली मा’र दी. वो भी उनकी बेटी के सामने. बात जं’गलराज से बहुत आगे बढ़ चुकी है.

कापड़ी के इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा कि यह बीजेपी का रामराज्य है जहाँ पुलिस और सरकार से मदद मांगने वालों को गो’ली मा’र दी जाती हैं और आला अधिकारियों व नेताओं को बचाने के किये आ’त्मसम’र्पण करने वाले गु’ना’गाहरों का फ’र्जी ए’नका’उंट’र कर दिया जाता हैं और 2 दिन पूर्व की बिहाता को जे’ल में डाल दिया जाता हैं.

इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए अशोक शर्मा नाम के एक अन्य यूजर ने लिखा कि यह तो हद ही हो गई है, कानून का कोई डर नहीं रहा. ये कैसा समाज बनते जा रहा हैं? लेकिन इतना तो पक्का है की इसका हल ए’का’उंटर नहीं है.

बता दें घ’टना के बाद परिवार वालों ने पत्रकार का श#व लेने से इनकार कर दिया था. इस मामले में गाजियाबाद की एएसपी कालनिधि नैतनी ने कहा कि मुख्य आरोपी रवि और छोटू समेत 9 लोगों गिरफ्तार कर लिया गया है. उनके कब्जे से एक अवैध ह’थि या’र भी बरामद किया गया है.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक जिलाधिकारी ने बताया है कि धरने पर बैठे लोगों की बात मानते हुए राज्य सरकार ने 10 लाख की आर्थिक सहायता, पत्नी को नौकरी, बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने का आश्वासन दिया है. फिलहाल ध’रना खत्म हो गया है.

साभार- जनसत्ता