बड़ी खबर: स्टिंग ऑपरेशन में हुआ बड़ा खुलासा, ‘जेएनयू’ में ह’मला करने वाले हुए बेनक़ाब

JNU यानी कि जेएनयू में हुई 5 दिन पहले की जबरदस्त हिं’सा में जेएनयू की प्रेसीडेंट आईशी घोष समेत 20 से भी ज्यादा छात्र उस हम’ले में गंभी’र रूप से घाय’ल हुए थे. हालांकी जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के छात्र इस हिं’सा के पीछे एबीवीपी छात्र संगठन का ही हाथ बता रहे थे. जेएनयू में रत को हिं’सा के थोड़ी देर बाद ही लेफ्ट से जुड़े छात्रों के कई वीडियो और फोटो भी वायरल हुए थे.

इसके बावजूद भी दिल्ली पुलिस का धुल मूल रवैय्या था. और वो अब तक इस मामले में कुछ खास करने में नाकाम रही थी. लेकिन इंडिया टुडे ग्रुप के आज तक न्यूज़ पर अंजना ओम कश्यप ने आज एक बड़ा स्टिंग ऑपरेश’न करके जेएनयू मामले में दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया है.

दरअसल आज तक ने जिन लोगों का स्टिंग ऑपरेशन किया, उन लोगों को सबसे पहले राज उगलवाने से पहले वो टीम के लोग उनके भरोसे को जीतने में कामयाब रहे. इसके बाद उनसे जब बातों बातों में इस तरह की बात चलाई गई तब उन्होंने हिडन कैमरे के पीछे यह सब कुछ क़ुबूल किया.

आजतक जेएनयू स्टिंग ऑपरेशन में एबीवीपी के छात्र बेनकाब

आज तक की स्टिंग करने वाली टीम इस वक़्त बेहद सजग थी, कि कहीं इन को किसी तरह का आभास न हो जाए. इस तरह से देश की राजधानी में एक बड़ी हिं’सा को अंजाम देने के बाद ये सभी छुट्टे घूम रहे थे. अब इतने समय बाद आज तक की वजह से कई लोगों की पहचान सामने आई है.

इधर आजतक की टीम ने इस स्टिंग को अभी कुछ देर पहले ही Live चलाया, जिसके तुरंत बाद इस दौरान उनकी एक संवाददाता भी जेएनयू केंपस पहुंच चुकी थी. वहां पर लाइव वीडियो को देखते वक्त JNU के छात्रों से भी वो बात कर रही थें.

जेएनयू के छात्रों ने आज तक की टीम को और उनके चैनल को इस स्टिंग ऑपरेशन के लिए धन्यवाद बोला है. उन्होंने कहा है कि अगर आप यह ऑपरेशन नहीं करते तो दुनिया के सामने वह सच कभी सामने नहीं आ पाता, जिसको जेएनयू कैंपस के सभी छात्र अच्छी तरह से पहले से जानते थे.

छात्रों  ने बताया कि पुलिस या और कोई भी उनकी यह बात मानने को तैयार नहीं था, बल्कि उल्टा उन पर ही एफ आई आर दर्ज की जा रही थी. इस मामले में दिल्ली पुलिस का रवैया भी शक के घेरे में आता है, क्योंकि किसी को भी पकड़ने के बजाय वह इस मामले में ढील दे रही थी.

आपको ध्यान हुआ कि एक संगठन प्रमुख ‘पिंकी भैया’ नाम के एक व्यक्ति ने आईएएस के आतं’कियों की भांति इस JNU में हुए इस हम’ले की जिम्मेदारी ली थी, और सबसे मजे की बात तो यह है कि वह लगभग सभी चैनलों को अपने इंटरव्यू देता रहा था, मगरागर पुलिस उसको गिरफ्तार तक नहीं कर रही थी.

आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में, गीता कुमारी समेत एबीवीपी के कई छात्र शामिल होने का खुलासा हुआ है. इसके अलावा और भी कुछ लोगों को जेएनयू कैंपस में वारदात को अंजाम देने  के लिए शामिल किया गया था. अब आज तक के स्टिंग ऑपरेशन के बाद दिल्ली पुलिस का काम बनता है कि और तह तक इसका पता लगाये.

बाकी अब यह तो वक्त ही बताएगा कि पिंकी भैया ने किसके कहने पर इस हम’ले की जिम्मेदारी ली थी. इसके साथ ही अब आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में उजागर ऐसे एबीवीपी के छात्रों में से कितनों की गिरफ्तारी होती है, और उन पर किस तरह के केस लगाए जाएंगे यह सवाल अभी बाकी है.

Leave a Comment