अच्छे दिन: अब देश के इन बड़े स्टेशनों से ट्रेन पकड़ने के लिए देना होगा एक्सट्रा चार्ज, देखिए

ट्रेन से सफ़र करना आने वाले वक्त में और भी मंहगा हो सकता हैं. ज़ी मीडिया को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार बड़े रेलवे स्टेशनों से ट्रेन पकड़ने के लिए अब यात्री को एक्ट्रा पैसे चुकाने पड़ेगा. खबरों के अनुसार बड़े स्टेशनों पर यात्रियों से स्टेशन यूजर फीस (Station User Fees) वसूली जाएगी. बताया जा रहा है कि रेलवे द्वारा यह कदम एयरपोर्ट के यूजर डेवलपमेंट फीस की तर्ज पर उठाया जा सकता है.

आपको बता दें कि हवाई यात्रियों से एयरपोर्ट पर अलग से UDF लिए जाता हैं जो वर्तमान में 281 रुपये है. एयरपोर्ट द्वारा यह पैसा यात्रियों से टिकट में जोड़ कर ही वसूल लिया जाता हैं. इसी दर्ज पर रेलवे भी टिकट बुकिंग के दौरान ही यात्रियों से स्टेशन यूजर फीस वसूलने की योजना बना रही हैं, जिससे टिकट की कीमत बढ़ जाएगी.

सूत्रों के अनुसार इस साल के अंत तक यानि दिसंबर 2020 तक रेलवे मंत्रालय द्वारा स्टेशन यूजर फीस शुरू किया जा रहा हैं, इसी दौरान इसके लिए नोटिफिकेशन भी जारी किया जा सकता हैं.

हालांकि इस फीस को लागू तभी किया जाएगा जब आप किसी बड़े बड़े रेलवे स्टेशन से ट्रेन में सफर करने के लिए बैठेंगे. रेलवे इसे बड़े स्टेशन रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत प्राइवेट प्लेयर नया और आधुनिक बनाने के बाद ही लागू करेगा.

अभी जिन स्टेशनों को रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत तैयार किया जा रहा हैं उनमें मुंबई, जयपुर, हबीबगंज, चंडीगढ़, नागपुर, बिजवासन, आनंद विहार वगैरह शामिल हैं. माना जा रहा है कि जल्द ही इन बड़े स्टेशनों से ट्रेन पकड़ने के लिए यूजर डेवलपमेंट फीस देनी पड़ेगी.

दरअसल केंद्र की मोदी सरकार स्टेशनों को रीडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के जरिए अत्यधिक आधुनिक और यात्रियों के लिए ज्यादा सुविधाओं युक्त बना रही हैं. इन प्रोजेक्ट्स पर पीपीपी (Public Private Partnership) के तहत काम किया जा रहा हैं.

इन स्टेशनों पर निजी कंपनियों को बिडिंग प्रक्रिया यानी बोली लगाने के लिए आमंत्रित करके रीडेवलपमेंट का जिम्मा सौंपा जाएगा. इसके बदले में यह निजी कंपनियां स्टेशनों को कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स में बदलकर स्टेशन यूजर फीस के द्वारा कमाई की जाएगी. आपको बता दें कि बिडिंग प्रक्रिया की शुरुआत रेलवे ने मुंबई CST के लिए कर दी हैं.

साभार- जी न्यूज़