पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों का पक्ष लेना भारी पड़ा ABP न्यूज़ के एंकर सुमित अवस्थी को, इसे पत्रकारिता नही दलाली कहते हैं

ABP न्यूज़ के एंकर सुमित अवस्थी को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत का समर्थन करने के बाद सोशल मीडिया पर यूज़र्स द्वारा ट्रोल किया जा रहा है.

किसी भी देश में मीडिया इसलिए होता है ताकि वह आमजन के मुद्दों को उठाकर सरकार के समक्ष रख सके जिससे कि आमजन के मुद्दों का कोई हल निकल सके लेकिन भारतीय मीडिया का यह हाल है कि आमजन के मुद्दे तो दूर की बात उनके खुद के मुद्दे ही सबसे ज्यादा चर्चा में रहते हैं और ऐसा ही कुछ हाल ही में हो रहा है।

बता दें कि देश भर में इन दिनों पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं जो रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से आम जनता परेशान है एक ओर जहां राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 90 रुपए से पार चला गया है तो देश के कई शहरों में यह 100 के आंकड़े के पार जा पहुंचा है।

सुमित अवस्थी की जमकर आलोचना कर रहे यूजर्स

लेकिन जब देश की मीडिया को चाहिए कि वह पेट्रोल और डीजल के बढ़ते हुए दामों पर जनता के दर्द को सरकार के समक्ष उठाए ऐसे में वह अपनी राय रख रहा है. जी हां ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें एबीपी न्यूज़ के वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज एंकर सुमित अवस्थी पेट्रोल और डीजल की बढ़ती हुई कीमतों पर अलग ही बात कहते हुए दिखाई दे रहे हैं।

दरअसल, ABP न्यूज के एंकर सुमित अवस्थी महंगे पेट्रोल और डीजल के फायदे गिनवा रहे है। जिसके बाद लोग उन्हें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल कर रहे हैं। लेकिन पहले जानते हैं कि सुमित अवस्थी ने पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती हुई कीमतों पर क्या कह रहे है।

एबीपी न्यूज के एंकर का बेतुका बयान

एबीपी न्यूज़ के एंकर सुमित अवस्थी का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें सुमित अवस्थी कह रहे हैं कि “भले ही यह आंकड़ा देखकर आपको नाराजगी होगी कि 33 रुपये में मिलने वाला तेल आपको 90 और 100 में क्यों मिल रहा है लेकिन एक सच यह भी है कि मुनाफे से होने वाली आमदनी का उपयोग सरकार आप ही के लिए करती है।

चाहे वह इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर हो या फिर विकास से जुड़ा हुआ कोई दूसरा काम या फिर सोशल सेक्टर का कोई काम हो सरकार वह पैसा उसी में लगाती है।सुमित अवस्थी का पेट्रोल और डीजल की बढ़ती हुई कीमतों पर दिया गया यह बयान अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है जिसके बाद लोग उन्हें खूब खरी-खोटी सुना रहे हैं।

सोशल मीडिया पर एक यूजर ने लिखा कि इसे पत्रकारिता नहीं दलाली कहते हैं, इस बयान पर सुमित अवस्थी को शर्म आनी चाहिए। वहीं एक अन्य यूज़र ने लिखा कि पिछले कुछ सालों से मोदी सरकार की दलाली करने वालों की संख्या में प्रचंड बढ़ोतरी हुई है उसी में से एक नाम है सुमित अवस्थी।

वही एक और अन्य यूजर में एंकर सुमित अवस्थी के एक छोटे से ही वीडियो को ट्वीट करते हुए कैप्शन में लिखा कि सुमित अवस्थी जी क्या आपको शर्म नहीं आती 4 रुपये में मिलने वाले डीजल पर टैक्स 32 रुपये हो गया है और आप यह बात बोल रहे हैं।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।