VIDEO: ABP न्यूज़ के ही चैनल ने 14 अप्रैल से झूठी अफवाह फैलायी थी, अब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की बड़ी कार्यवाही

देश भर में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन चल रहा है इसी बीच मुंबई के बांद्रा में 14 अप्रैल को उमड़ी प्रवासी मजदूरों की भी’ड़ पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इन्हें निश्चिंत रहने का भरोसा दिया है। सीएम ठाकरे ने कहा- जो भी बाहरी राज्यों के मजदूर यहां हैं, वो निश्चिंत होकर यहां रहें। डरने की कोई बात नहीं है। खाने पीने से लेकर रहने तक का हम आपका पूरा ध्यान रख रहे हैं।

दरअसल, 14 अप्रैल को ख़त्म हो रहे लॉकडाउन को देखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने इसे फिर 3 मई तक के लिए और बढ़ा दिया है लेकिन कल मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर अचानक हज़ारों की संख्या में प्रवासी मज़दूरों की बड़ी भी’ड़ इकट्ठा हो गई है। जिसे मीडिया ने भी इसे हमेशा की तरह इसे धार्मिक रंग देने की जीतोड़ कोशिश शुरू कर दी।

बांद्रा स्टेशन पर उमड़ी प्रवासी मजदूरों भी’ड़ के ठीक बग़ल में एक मस्जिद भी है जिसकी वजह से मीडिया को धार्मिक रंग देने में आसानी हो गयी और इसमें रजत शर्मा, चित्रा त्रिपाठी, सुधीर चौधरी और अर्नब गोस्वामी जैसे न्यूज़ ऐंकर सबसे आगे दिखायी देते हैं जबकि सच्चाई इसके ठीक उलट पायी गयी

दरअसल, मुंबई पुलिस ने हजारों प्रवासी मजदूरों भी’ड़ को समझाने के लिए मस्जिद के ही ज़िम्मेदारों और धर्मगुरओं का सहारा लिया और कुछ हद तक वो इसमें सफल भी रहे। मीडिया द्वारा इस मामले को धार्मिक रंग देने की ख़बरों को तो मुंबई पुलिस ने पहले ही झू’ठा साबित कर दिया लेकिन सोशल मीडिया पर वि’रोध के सुर तेज़ हो गए।

वही इस मामले को लेकर महाराष्ट्र में एक टीवी पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई जिसमें उसने कहा था कि ट्रेन सेवाएं बहाल होंगी, जिसके कारण उपनगर बांद्रा में मंगलवार को प्रवासी कामगार उमड़ पड़े। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि महाराष्ट्र के उस्मानाबाद जिले के आरोपी राहुल कुलकर्णी को हिरासत में ले लिया गया है और पुलिस उसे मुंबई ला रही है।

अधिकारी ने बताया कि आईपीसी धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है. लोक सेवक और 269, 270 द्वारा लापरवाही से आदेश देने के लिए अवज्ञा लापरवाही, दुर्भावनापूर्ण कार्य जीवन के लिए ख’तरना’क बीमारी के सं’क्रमण को फैलाने की संभावना है, 117 सार्वजनिक रूप से अपराध का उन्मूलन आयोग।

बता दें हजारों प्रवासी श्रमिक, जिनमें से अधिकांश बिहार, उत्तर प्रदेश और बंगाल से हैं, मंगलवार दोपहर यहां बांद्रा रेलवे स्टेशन के पास एकत्र हो गए।उनकी मांग है की राज्य सरकार परिवहन की व्यवस्था करे ताकि वे अपने गावं और शहरों में वापस जा सकें।

Leave a Comment