Fact Check: किसान आंदोलन के बीच अडानी ग्रुप ने पंजाब में भंडारण के लिए बनाए स्टोरेज?, जानें क्या है सच्चाई

किसान आंदोलन (Farmers Protest) के बीच हो रहीं हैं अडानी ग्रुप (Adani group) के स्टोरेज की तस्वीरें, जानिए पूरा सच

नई दिल्ली, 8 दिसम्बर 2020, FACT CHECK: सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 12 दिन से किसान आंदोलन कर रहे हैं सरकार और किसान नेताओं की लगातार वार्ताओं से भी किसानों की समस्याओं का कोई हल नहीं निकल पा रहा है। ऐसे में किसानों ने आज भारत बंद का ऐलान भी किया था इसका असर भी देश में दिख रहा है। इन सबके बीच सोशल मीडिया पर वायरल एक तस्वीर की खूब चर्चा हो रही है।

दरअसल सोशल मीडिया पर एक बोर्ड की तस्वीर वायरल हो रही है. जिसके बारे में सोशल मीडिया पर खूब चर्चा हो रही है। वायरल हो रही तस्वीर में बोर्ड पर लिखा है ‘अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड’ इस तस्वीर के वायरल होने पर यह कहा जा रहा है कि अडानी ने भंडारण की तैयारी भी शुरू हो गई है।

ADANI GROUP

आपको यह भी बता दें कि किसान आंदोलन के बीच किसानों का कहना है कि यह तीनों ही कृषि कानून सिर्फ कॉरपोरेट्स को फायदा पहुंचाने वाले हैं। उनसे किसानों का कोई हित नहीं होने वाला है। वहीं सरकार बार-बार किसानों को यही समझाती हुई दिख रही है कि यह तीनों कृषि कानून किसानों को सशक्त बनाएंगे।

तथा उनकी आय में वृद्धि करेंगे परंतु किसान अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। ऐसे में यह तस्वीर किसान आंदोलन के समर्थक लोगों को और भड़का रही है। तस्वीर वायरल होने के बाद से ही लोग सोशल मीडिया पर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

एक यूजर ने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा कि ‘ बिल राष्ट्रपति के पास चला गया है। बाकी संसद में है लेकिन अडानी के लिए तैयारी शुरू हो चुकी है। कांग्रेस और भाजपा किसानों को पूरी तरह से बर्बाद कर देंगे। वहीं तस्वीर के वायरल होने के बाद जब इस पर पड़ताल की गई तो इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार वायरल हो रही तस्वीर हाल ही की नहीं बल्कि बहुत पुरानी है।

आपको बता दें पंजाब के मोगा में स्थित अडानी ग्रुप के बोर्ड की जो तस्वीर वायरल हो रही है वहां अडानी का अनाज भंडारण नया नहीं बल्कि 2007 से ही चल रहा है। वहीं अडानी एग्री लॉजिस्टिक लिमिटेड की वेबसाइट के मुताबिक कंपनी एफसीआई के साथ मिलकर 2007 से ही भंडारण का काम कर रही है।