भारत मामले में UAE, क़तर, ओमान के बाद अब कुवैत के मंत्रिपरिषद की हुई इंट्री, मुसलमानों पर हो रहे ह'मलों को रोकने के लिए....

भारत मामले में UAE, क़तर, ओमान के बाद अब कुवैत के मंत्रिपरिषद की हुई इंट्री, मुसलमानों पर हो रहे ह’मलों को रोकने के लिए….

नई दिल्लीः सारी दुनिया में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा दुनिया भर में अब तक कोरोना की चपेट में सैकड़ो की संख्या में लोग आ गए हैं. जबकि इस म’हामा’री से म’रने वालों की संख्या भी लाखों में पहुंच गई है. भारत में भी इस महा’मा’री का खासा असर देखने को मिल रहा है, लेकिन भारत में इस वायरस से लड़ाई में अब धार्मिक मु’द्दा भी शामिल हो गया है. वजह दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के लोगों के शामिल होना की।

गौरतलब है की पिछले कुछ दिनों से भारत में कोरोना वायरस महामारी के दौर में कथित इस्लामोफोबिया को लेकर गल्फ़ कंट्रीज़ और भारत के रिश्ते में दरार पड़ती नजर आ रही थी. संयुक्त अरब अमीरात में रहने वाले भारतीयों की मुस्लिम विरोधी सोशल मीडिया पोस्ट से वि’वाद और गर्म हो गया. यहां तक कि यूएई में भारत के राजदूत पवन कपूर को सामने आना पड़ा और उन्होंने भारतीयों को कड़ी हिदायत दी थी।

बता दें UAE, क़तर, ओमान के बाद अब कुवैत में भी भारतीय राजदूत ने मुस्लिमों के खिलाफ नफरत फैलाने को लेकर भारतीय को चेतावनी दी है. भारतीय प्रवासियों से इस्लामोफोबिक संदेशों को साझा नहीं करने के लिए कहा गया है.कुवैत में भारतीय दूतावास ने प्रवासियों से नफरत के किसी भी संदेश को अनदेखा करने और एकजुट रहने का आग्रह किया।

उन्होने कहा, इन चुनौतीपूर्ण समय में, यह महत्वपूर्ण है कि हम कोविड -19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में केंद्रित और एकजुट रहें, और गलत इरादों के साथ सोशल मीडिया पर नकली समाचारों से विचलित न हों।

अरब मीडिया अल्क़ब्स अल इक़तरुणि के अनुसार मंत्रिपरिषद अपनी साप्ताहिक बैठक के दौरान, जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री शेख सबाह अल-खालिद ने की थी, मंत्रिपरिषद ने इस्लामिक सहयोग संगठन और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इन ह’मलों को रोकने के लिए आवश्यक और तत्काल उपाय करने का आह्वान किया, ताकि भारत मुसलमानों के अधिकारों को संरक्षित किया जा सके।

इन मामले की जानकारी देते हुए अरब नेता अब्दुल्ला अल शारिका ने अपने ट्विटर कर कहा- कुवैत राज्य मंत्री परिषद भारत में मुसलमानों के खिलाफ ह’मलों की निंदा करता है और उन्होंने उसी के साथ लेटर भी पोस्ट किया है जिसमें मंत्रिपरिषद का बयान मौजूद है।

Leave a Comment