VIDEO: किसान सम्मेलन में पहुंचे केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को महिला ने सुनाई खरी-खोटी, वीडियो हुआ वायरल

ग्वालियर के किसान सम्मेलन में पहुंचे कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को महिला ने सुनाई खरी-खोटी, बोलीं सड़क पर पड़ा किसान तुम्हे क्यों नहीं दिख रहा यहां किसान से मिलने आए हैं.

किसान आंदोलन को चलते हुए आज 23 दिन हो चुके हैं। लेकिन अभी तक सरकार और किसान के बीच तकरार बनी हुई है हालांकि किसान नेताओं और सरकार के बीच कई बार बातचीत भी हुई है लेकिन कोई ठोस हल नहीं निकल पाया है। बता दें कि इस वक्त देश भर के किसान केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं, वहीं पंजाब और हरियाणा की किसान सिंधु बॉर्डर पर कोरोना म’हामा’री और ठंड के इस मौसम में डटे हुए हैं।

किसान नेताओं का यही कहना है कि जब तक सरकार काले कानूनों को वापस नहीं ले लेती उनका यह विरोध जारी रहेगा और वह इसे और आगे लेकर जाएंगे लेकिन हाल ही में एक मामला हुआ जो भी अब खासा चर्चा में बना हुआ है. हाल ही में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को किसानों के गुस्से का सामना करना पड़ा और यही नहीं एक महिला ने उन्हें खूब खरी-खोटी सुनाई.

सवा करोड़ किसान दिल्ली में बैठे है, वह आपको क्यों नहीं दिखते?

 

दरअसल केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मध्य प्रदेश के ग्वालियर में एक किसान सम्मेलन में शामिल होने के लिए गए थे. लेकिन यह सम्मेलन उन पर भारी पड़ गया पहले तो किसान सम्मेलन में पहुंचे कृषि मंत्री के काफिले को किसानों ने घेर लिया. पुलिस की खूब कोशिशों के बावजूद भी जब लोग नहीं हटे तो नरेंद्र सिंह तोमर किसानों के बीच बातचीत के लिए पहुंचे जहां उन्हें एक महिला के गुस्से का सामना करना पड़ा।

किसान सम्मेलन में पहुंचे कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से महिला ने पूछा कि ‘दिल्ली में सवा करोड़ के किसान पड़ा हुआ है वह किसान आपको क्यों दिखाई नहीं देता और यहां जो किसान सम्मेलन हो रहा है वहां आपको किसान दिख रहे हैं।

सवाल का कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अजीब सा जवाब दिया कृषि मंत्री बोले की जो किसान पड़े हुए हैं वह सवा करोड़ नहीं है आप गिनती कर लीजिए। उनसे भी बातचीत कर रहे हैं। मंत्री ने आगे कहा कि कुछ किसानों को जाने नहीं दिया गया क्योंकि आप विरोध कर रहे हैं कुल मिलाकर अगर आप कानून के समर्थन में आओगे और चर्चा करोगे तो हम चर्चा करेंगे।

मंत्री का यह जवाब अजीबोगरीब है लेकिन महिला ने इस पर तुरंत पलटवार किया महिला ने कहा कि क्या हम जबरदस्ती कानूनों का समर्थन करेंगे जिस पर कृषि मंत्री ने कहा कि आप जबरदस्ती समर्थन मत कीजिए और विरोध कीजिए विरोध करने के लिए आप स्वतंत्र। जब विरोध करोगे तो प्रशासन की बातचीत है वह रोकेगा।

महिला ने आगे कहा कि आंदोलनकारी किसानों को तो आप के कार्यक्रम में जाने भी नहीं दिया गया जिस पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि आप मुझसे समय लीजिए मैं बातचीत करूंगा। आप आंदोलन करेंगे तो व्यवहार आंदोलन जैसा होगा और अगर आप चर्चा करेंगे तो व्यवहार चर्चा जैसा होगा।