सुशांत मामले को लेकर एम्स की रिपोर्ट सामने आने के बाद शिवसेना ने कहा- कहां है कुत्ते की तरह भोंकने वाले एंकर माफ़ी मांगे

सुशांत मामले को लेकर एम्स की रिपोर्ट सामने आने के बाद शिवसेना ने कहा- कहां है कुत्ते की तरह भोंकने वाले एंकर माफ़ी मांगे

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर सीबीआई जांच चल रही है. इस मामले में अब एम्स की रिपोर्ट सामने आ गई है जिससे यह केस काफी हद तक साफ होता नजर आ रहा है. वहीं एम्स की रिपोर्ट आने के शिवसेना ने अर्नब गोस्वामी पर तीखा हम’ला किया है. आपको बता दें कि एम्स की रिपोर्ट में ह’त्या की आशंकों को पूरी तरह से ख़ारिज कर दिया गया है. जिसके बाद शिवसेना ने मीडिया एंकरों से माफ़ी मांगने के लिए कहा है.

सोमवार को शिवसेना ने कहा कि इस मामले में मुंबई पुलिस और सरकार को बदनाम करने वाले सभी नेताओं और न्यूज़ चैनलों को महाराष्ट्र से माफ़ी मांगना चाहिए.

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा कि अभिनेता की मौ’त के मामले में आखिरकार सच्चाई की जीत हो गई. संपादकीय में कहा गया है कि कुत्तों की तरह भौंकने वाले नेताओं और न्यूज़ चैनलों जिन्होंने मुंबई पुलिस को बदनाम किया और उसकी जांच पर सवाल निशाने साधे, उन सबको को महाराष्ट्र से माफ़ी मांगना चाहिए.

सामना के संपादकीय में आरोप लगाते हुए कहा गया है कि इस घट’ना की आ’ड़ में महाराष्ट्र की छवि ख़राब करने की साजिश कुछ खास लोगों द्वारा रची गई थी.

इसके साथ ही उद्धव ठाकरे सरकार को सलाह देते हुए कहा गया है कि इस साजिश में लिप्त सभी लोगों के खिलाफ महाराष्ट्र सरकार को मानहानि का मामला ठोकना चाहिए.

आपको बता दें कि एम्स के मेडिकल बोर्ड ने दिग्गज एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की ह;त्या के सभी दावों को सिरे से ख़ारिज करते हुए इसे फं’दे से लटक कर ख़ुदकुशी करने का मामला बताया गया हैं.

इसी का जिक्र करते हुए शिवसेना ने संपादकीय में कहा कि अब अंधे भक्त सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त के केस में एम्स की रिपोर्ट को भी खारिज करेंगे? अभिनेता की दुर्भाग्यपूर्ण मौ’त को 110 दिन गुजर चुके है.

इसके साथ ही सामना में किसी भी दल या व्यक्ति का नाम लिए बिना कहा गया है कि जिन लोगों ने यूपी के हा’थरस जिले में हुए कथित सामूहिक दु’ष्क;र्म और ह’त्या के मामले में चुप्पी साध रखी है, उन्हें महाराष्ट्र के पौरुष की परीक्षा नहीं लेनी चाहिए.

साभार- अमर उजाला