यूपी 2022 विधानसभा चुनाव को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान

अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान- 2022 में किसी भी दल से गठबंधन नहीं, सरकार बनी तो शिवपाल होंगे कैबिनेट मंत्री

इटावा: बिहार विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आने के बाद भी इसके नतीजों पर चर्चाओं का दौर थमा नहीं है. तमाम सियासी दल बिहार विधानसभा चुनावों के नतीजों को लेकर अपनी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है. इस बीच समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने भी बिहार चुनाव पर अपनी बातें रखते हुए महागठबंधन के समर्थन में अपनी बातें कही, उन्होंने कहा कि बिहार की जनता के साथ भाजपा ने धोखा किया है.

विधानसभा चुनाव नतीजों पर चर्चा करते हुए अखिलेश ने कहा कि महागठबंधन को जनता ने समर्थन दिया सीटें भी लगभग जीत ही गए। लेकिन इतना बड़ा धोखा लोकतंत्र में किसी के साथ नहीं हुआ जो महागठबंधन के साथ हुआ है, भाजपा ने वहां के लोगों के साथ किया है और महागठबंधन को बेईमानी से हराया है.

j

वही उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 में होंगे. जिसके लिए समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बड़ा एलान किया है. उन्होंने कहा कि है कि 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी किसी भी बड़े राजनीतिक दल के साथ गठबंधन नहीं करेगी, बल्कि छोटे दलों के साथ हाथ मिलायेगी.

आपको बता दें, समाजवादी पार्टी इससे पहले बहुजन समाज पार्टी, बसपा और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव ल’ड़ा चुके हैं, हलाकि दोनों बार ही पार्टी को कामयाबी नहीं मिली और सत्ता हाथ से चली गई. इसलिए अब पार्टी ने बड़े राजनीतिक दलों के बजाय छोटे दलों के साथ समझौता करने का फैसला किया है.

इसके साथ ही अखिलेश यादव ने अपने परिवार में चल रहे मतभेदों को को लेकर भी खुल कर बात की उन्होंने कहा की चाचा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव के साथ रिश्ते सुधारने की दिशा में कदम आगे बढ़ाया है.

आपको बता दें शनिवार को दिवाली के अवसर पर इटावा में पत्रकारों से बात करते हुए ‘समाजवादी पार्टी’ के अध्यक्ष ने शिवपाल यादव के लिए 2022 के विधानसभा चुनाव में जसवंतनगर की सीट छोड़ने और सरकार बनने पर उन्‍हें कैबिनेट मंत्री बनाने का एलान किया.