अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर सुर्ख़ियों में, हिन्दू छात्रा ने उठाया हिजाब पर सवाल, जवाब में…

यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी एक बार फिर से सुर्ख़ियों में आ गई हैं. दरअसल सोशल मीडिया पर युनिवर्सिटी की एक हिंदू छात्रा को लगातार धमकी दी जा रही हैं. धमकी में कहा जा रहा हैं कि कोरोना संक’ट के बाद जब यूनिवर्सिटी खुलेगी तो उसे जबरन पीतल का हिजाब पहनाया जाएगा. दरअसल छात्रा ने बताया कि उसने हिजाब को लेकर अपनी राय रखी थी इसके बाद से ही उसे धमकाया जा रहा हैं.

इस मामले को लेकर छात्रा ने पुलिस में मामला दर्ज कराया हैं. अपनी शिकायत में छात्रा ने कहा कि उसके द्वारा कॉलेज में छात्राओं को जबरन हिजाब पहनने के मामले को लेकर अपनी राय रखी दी जिसके बाद से ही स्नातक के एक छात्र ने उसे धमकाया और उसके साथ अभद्र भाषा का भी प्रयोग किया.

 

वहीं मामले के तूल पकड़ने के बाद राज्य की महिला आयोग सदस्य मीना कुमारी ने भी इस मामले को उठाया हैं. बताया जा रहा है कि उन्होंने अलीगढ़ एसपी अरविंद कुमार को एक पत्र लिख कर इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की हैं.

जिसके बाद पुलिस ने मामले में जल्द ही सख्त से सख्त कार्रवाई करने का आश्वसान भी दिया है. हिन्दू छात्रा ने अपनी शिकायत में यह भी कहा है कि ये छात्र सीएए और एनआरसी बिल संसद में पारित होने के बाद से उसे निशाना बना रहे थे क्योंकि छात्रा ने इन बिलों का खुलकर समर्थन किया था.

छात्रा का दावा है कि उसे इस दौरान कई अपमानजनक और अपशब्दों से भरे संदेश भी प्राप्त हुए थे. छात्रा के अनुसार उसे यूनिवर्सिटी खुलने के बाद अपने साथ अ’भद्रता होने का खतरा सता रहे हैं.

युनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही छात्रा ने बताया है कि उसे उसके ही साथी छात्र द्वारा फिर से धमकी दी गई है कि वो विक्टिम कार्ड खेलना बंद करें वर्ना वो एएमयू और चरित्र हनन के लिए उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करवा देगा. छात्रा के मुताबिक यह बात उस छात्र ने इंस्टाग्राम पर किये गए मैसेज में कही हैं.

वहीं इस मामले की पुष्टि करते हुए एसपी (अपराध) अरविंद कुमार ने बताया कि मामले की विस्तार से जानकारी ली जा रही है और पूछताछ भी जारी हैं. उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच पूरी होने के बाद जरुरी आईपीसी की धाराओं को एफआईआर में शामिल कर दिया जाएगा.

साभार- जनसत्ता