अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत जाने से रोका, कहा- भारत सिरया और पाकिस्तान जैसा…

भारत और अमेरिका की दोस्ती में खाई पटना शुरू हो गई हैं. एक तरह जहां अमेरिका भारत के साथ अच्छे रिश्ते और मजबूत दोस्ती होने के दावे करता हैं, वहीं दूसरी अमेरिका ने अपने नागरिकों को भारत की यात्रा नहीं करने की सलाह दी है. बताया जा रहा है कि भारत में मौजूद कोरोना सं’कट, अपरा’ध और आतं’कवा’द को कारण बताते हुए अमेरिका ने यह सलाह दी हैं. इतना ही नहीं अमेरिका ने भारत की यात्रा के लिए 4 रेटिंग निर्धारित कर दी हैं.

आपको बता दें कि इस श्रेणी की रेंटिंग को बेहद ही ख़राब माना जाता हैं. इस रेंटिंग के बाद भारत युद्धग्रस्‍त सीरिया, आतं’कवाद का केंद्र पाकिस्‍तान, ईरान, इराक और यमन जैसे देशों की लिस्ट में शामिल हो गया हैं. इन देशों के साथ अब भारत भी इस श्रेणी का हिस्सा बन गया हैं.

अमेरिका ने कहा है कि भारत में वर्तमान में कोरोना वायरस तेजी से फ़ैल रहा हैं. इसके आलावा देश में तेजी से अप’राधिक मामले और आतं’कवाद भी बढ़ता जा रहा हैं. इसलिए अब भारत यात्रा के लिए सुरक्षित देश नहीं हैं, इसलिए अमेरिकी नागरिक भारत की यात्रा ना करें.

अमेरिका ने अपनी ट्रेवेल अडवाइजरी में यह सलाह देने के पीछे कुछ अन्य पहलूओं जैसे महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अप’राध और उग्र’वाद को भी कारण बताया है. वहीं अमेरिका सरकार की इस ट्रेवेल अडवाइजरी के बाद इंडियन टूरिज्‍म एंड हॉस्पिटलटी संघ (FAITH) ने नाराजगी जाहिर की हैं.

साथ ही FAITH ने भारत सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि वो अमेरिकी सरकार पर अपनी ट्रेवेल अडवाइजरी को बदलने के लिए दबाव डाले. फैथ ने कहा कि केंद्र सरकार इस मामले को प्राथमिकता के साथ उठाए जिससे देश को लेकर नका’रात्मक छवि बनने से रोकी जा सके.

फैथ ने कहा कि वर्तमान में कोरोना संक’ट के चलते पर्यटन उद्योग गंभीर सं;कट का सामना कर रहा हैं. हालांकि जल्द ही भारत में यह फिर शुरू होने जा रहा हैं लेकिन शुरुआत से पहले ही इसे तगड़ा झटका लगा हैं.

अमेरिका सरकार द्वारा 23 अगस्‍त को जारी इस ट्रेवेल अडवाइजरी में भारत को पाकिस्‍तान, सीरिया, ईरान जैसे हिं’सा प्रभावित देशों के साथ रखा गया हैं. अमेरिकी अडवाइजरी में यह भी कहा गया है कि भारत कोरोना के चलते कभी भी सीमा बंद करके एयरपोर्ट भी बंद कर सकता है.

इसके आलावा भारत सरकार कभी भी यात्रा पर प्रतिबंध लगा सकती हैं, देश में कब लॉकडाउन लग जाए इसे लेकर भी कुछ नहीं कहा जा सकता. अमेरिका के विदेश विभाग ने खास तौर पर जम्‍मू-कश्‍मीर और भारत-पाक सीमा वाले इलाके में ना जाने की चेतावनी दी हैं.