मशहूर एंकर ‘अंजना ओम कश्यप’ के बारे में वो बातें, जिनको बहुत कम लोग ही जानते हैं

भारतीय मीडिया की मशहूर न्यूज़ एंकर (Anjana Om Kashyap) किसी तारीफ की मौहताज नहीं हैं. आज देश में शायद किसी के लिए यह नाम अनजाना नहीं है, जो खबरों पर निगाह रखने के शौकीन है वो अंजना ओम कश्यप से अच्छी तरह से वाकिफ है. अंजना ओम कश्यप को लोग हिंदी न्यूज़ चैनल आजतक की एंकर के रूप में जानते हैं. वह भारतीय मीडिया में पहली तेजतर्रार महिला पत्रकार और एंकर हैं, बिल्कुल सटीक तथ्य के साथ अपने सामने बैठे शख्स से सवाल पूछती हैं और अपने संतुलित शब्द बाणों से आक्रामक होती है.

हालांकि अंजना ओम कश्यप को कई बार किसी न किसी बात को लेकर, ट्विटर पर ट्रोल किया जाता रहा है. अंजना ओम कश्यप की निजी जिंदगी के बारे में बहुत कम लोगों को पता है. आज अंजना ओम कश्यप का जन्मदिन हैं तो चलिए उनके जन्मदिन पर उनकी जिंदगी के जुड़े कुछ राज से पर्दा उठाते हैं, उनके बारे में कुछ ऐसी दिलचस्प बातें आपको बताते हैं जिन्हें आप शायद नहीं जानते होगें.

Anjana Om Kashyap से आजतक की पत्रकार और एंकर बनने तक का सफ़र

अंजना ओम कश्यप का जन्म बिहार के रांची ज़िले में हुआ था, जो अब झारखण्ड में है. उनके पिता का नाम ओम प्रकाश तिवारी है. इन्होंने अपने बचपन से स्कूली शिक्षा रांची के लोरेटो कॉन्वेंट स्कूल से पूरी की है. अंजना ने वनस्पति विज्ञान में स्नातक किया हुआ है.

इससे आगे की पढाई करने के लिए वह दिल्ली आ गई और उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लिया. इसके बाद उन्होंने यूपीएससी की तैयारी की लेकिन इसमें उन्हें कुछ खास सफलता हासिल नहीं हुई. अंजना ओम कश्यप ने यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान तरह-तरह की नई जानकारियां खोजने का मौका मिला.

इसी दौरान उनकी पत्रकार बनने की इच्छा हुई और उन्हें लगा कि इस काम को वह बहुत अच्छे से कर पाएंगी. इसके बाद अंजना ने पत्रकारिता में दिलचस्पी होने के कारण “जामिया मिलिया इस्लामिया कॉलेज” में दाखिला लिया. साल 2002 में अंजना ओम कश्यप ने अपनी पत्रकारिता का डिप्लोमा हासिल कर लिया.

अब हाथ में पत्रकारिता की डिग्री लेकर अंजना नौकरी की तलाश में निकल पड़ी लेकिन उन्हें कहीं भी नौकरी नहीं मिल रही थी. उन्होंने काफी इंटरव्यू दिए, तब कहीं जाकर मुश्किल से उन्हें साल 2003 में दिल्ली दूरदर्शन में काम मिला और उन्होंने अपने पत्रकारिता कैरियर की शुरुआत दूरदर्शन के प्रोग्राम आँखों देखी से की.

अंजना ने जब दूरदर्शन पर महिला पत्रकार के तौर पर अपने अंदर के पत्रकार का हुनर दिखाया तो उन्हें बहुत जल्द ही प्रसिद्धि हासिल होने लगी क्योंकि उस दौरान कोई तेज-तर्रार और दो टूक बात बोलने वाली महिला पत्रकार दूरदर्शन में नहीं थी.

उन्होंने दूरदर्शन में 5 साल तक काम किया, इसके बाद उन्होंने जी न्यूज़ को ज्वाइन कर लिया. इसके बाद अंजना को जी न्यूज़ में वो मुकाम हासिल नहीं हो पा रहा था जो उन्हें चाहिए था. इसी के चलते उन्होंने साल 2007 में जी न्यूज़ की नौकरी छोड़कर News24 चैनल को ज्वाइन कर लिया.

अंजना ओम कश्यप को News24 चैनल में कुछ खास और रूचिकर काम नहीं मिला और उन्होंने स्टार न्यूज़ ज्वाइन कर लिया. वहां भी कुछ दिन काम करने के बाद उन्होंने स्टार न्यूज़ को भी अलविदा कह दिया और उस समय के तेजी से उभरते चैनल आजतक को ज्वाइन कर लिया और यही से उन्होंने सफलता के नए आयाम लिख दिये.

आजतक में कुछ ही महीनों में अंजना ओम कश्यप ने काफी ख्याति प्राप्त कर ली और वह आज तक चैनल एक मुख्य चेहरा बनकर उभरीं. आज तक चैनल को इन्होने अच्छी टीआरपी दिलवाई.

हालांकि वह जिस चैनल में जाती थी उस चैनल की टीआरपी बढ़ जाती थी, लेकिन पिछले न्यूज़ चैनलों में उन्हें अपना मनचाहा काम करने का मौका नहीं मिला और इसी के चलते उन्होंने उन्हें छोड़कर आगे बढ़ने का फैसला किया. लेकिन आजतक के साथ उन्होंने खूब तालमेल बैठा लिया और वर्तमान में अभी तक वह आजतक चैनल के लिए ही बतौर महिला पत्रकार एंकर काम करती हैं.

अंजना ओम कश्यप को मिले चुके हैं इतने अवार्ड

  • अंजना को सबसे पहले राष्ट्रीय टेलीविजन पुरस्कार में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ रिपोर्टर के अवार्ड के लिए चुना गया था.
  • साल 2014 के दौरान अंजना ITA द्वारा भी सर्वश्रेष्ठ एंकर के तौर पर सम्मानित हुई.
  • साल 2015 में ENBA द्वारा अंजना को सर्वश्रेष्ठ एंकर अवोर्ड से सम्मानित किया गया था.
  • साल 2015 में भी IMWA अवार्ड्स द्वारा सर्वश्रेष्ठ एंकर के रूप में अंजना को चुना गया.
  • इंडिया टुडे के चेयरमैन की तरफ से उत्कृष्टत पुरस्कार से से भी अंजना को सम्मानित किया जा चूका हैं.
  • पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा पत्रकारिता में उत्कृष्टता के लिए सम्मानित किया गया था.

वहीं अंजना की निजी जिंदगी की बात की जाए तो अंजना के दो बच्चे हैं, एक बेटा और एक बेटी. उनका विवाह मंगेश कश्यप से हुआ हैं. मंगेश कश्यप एक सरकारी अधिकारी है और फिलहाल दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के सीवीओ के तौर पर कार्यरत हैं.

हालांकि मंगेश की नौकरी काफी विवादों में रही थी. मंगेश की जॉब शादी के बाद लगी थी और ऐसा कहा जाता है कि उन्हें नौकरी उनकी काबिलियत के आधार पर नहीं बल्कि अंजना ओम कश्यप की वजह से मिली थी.