आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को एक और तगड़ा झटका, वर्ल्ड बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ रेट के अनुमान...

आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को एक और तगड़ा झटका, वर्ल्ड बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ रेट के अनुमान…

नई दिल्लीः वर्ल्ड बैंक ने भारत के जीडीपी ग्रोथ रेट में कटौती की है। देश की लड़खड़ाई अर्थव्यवस्था और इकनॉमिक स्लोडाउन के बीच वर्ल्ड बैंक ने ये संभावना जताई है कि वित्त वर्ष 2019-2020 में भारत की विकास दर पांच फीसदी रहने का अनुमान लगाया है। बैंक ने यह भी कहा है कि भारत अगले वित्त वर्ष में इसमें सुधार कर सकता है। और इसका आंकड़ा 5.8 तक पहुंच सकता है।

आपको बता दें हालिया ग्लोबल इकनॉमिक प्रोस्पेक्ट्स में विश्व बैंक ने कहा की भारत के पड़ोसी बंग्लादेश भारत की तुलना में उनसे आगे रहेगा। बंग्लादेश की जीडीपी सात फीसदी रहने का अनुमान है। जबकि दूसरे पड़ोसी पाकिस्तान की जीडीपी आभी तीन फीसदी रहने की संभावना जताई जा रही है।

विश्व बैंक ने ये भी बताया की भारत में गैर- वित्ती कंपनीयों में उधार में कमजोरी रहैगी। और इस वित्त वर्ष में विकास दर गिर कर पांच फीसदी रह जाएगी। अगले वित्त वर्ष में इसका आंकड़ा 5.8 होगी। इससे पहले पिछले वर्ष अक्टूबर में विश्व बैंक ने अनुमान लगाते हुए चातु वित्त वर्ष में भारत का विकास दर छह प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया था।

इधर सरकार ने मंगलवार को माना कि चालू वित्त वर्ष में भारत का विकास दर पिछले ग्यारह साल के सबसे निचले स्तर पांच प्रतिशत तक रह सकती है। इसके अगले हीं दिन एसबीआई के अर्थशास्त्रियों ने इस अनुमान को उम्मीद से ज्यादा बताया। चालू वित्त वर्ष में विश्लेषकों ने सरकार के अग्रिम अनुमान को आशावादी बताया।

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार विश्लेषकों का कहना है कि आर्थिक वृद्धि दर का ये आंकड़ा सरकार के अनुमाम से कम 4.6 तक रह सकता है। जो सरकार के अनुमान से बहुत कम है। अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर चालू बाजार मूल्य 7.5 प्रतिशत रह सकता है। जो इसका 42 साल का निचला स्तर होगा।

GDP क्या है, समझें सरल भाषा में और इसको बढ़ाने में देश के नागरिक कैसे मदद कर सकते हैं

जापान की एक ब्रोकरेज कंपनी नोमूरा ने अनुमान लगाया की चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 4.7 प्रितशत रहेगा। जो अगले वित्त वर्ष में ये 5.7 पर पहुंच जाएगी। वहीं घरेलू ब्रोकरेज कंपनी कोटक सिक्योरिटीज ने चालू वित्त वर्ष में 4.7 रहने का अनुमान लगाया है।

Leave a Comment