VIDEO: मुझे मत सिखाइए- आजतक के लाइव टीवी डिबेट में अंजना ओम कश्यप पर भ’ड़के कांग्रेस प्रवक्ता

राजस्थान में इन दिनों सियासी हलचल मची हुई हैं. राज्य में राज्यसभा की कुछ सीटों पर चुनाव होने वाले हैं. चुनाव से पहले सियासी उठ’क-प’थक तेज हो गयी हैं. सूबे की अशोक गहलोत सरकार ने बीजेपी पर कांग्रेस विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाया है. कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी लालच देकर कांग्रेस पार्टी के विधायकों को अलग करने की कोशिश की जा रही हैं. राजस्थान में बने मौजूदा हालतों पर टीवी चैनल आजतक ने एक डिबेट शो किया.

डिबेट का संचालन आजतक की एंकर अंजना ओम कश्यप कर रही थी. वहीं डिबेट के दौरान पैनल में कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा व बीजेपी की तरफ से बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया थे.

डिबेट शो के बीच कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा आजतक की एंकर पर भ’ड़क उठे. जब अंजना कश्यप ने उनसे टॉपिक पर ही जवाब देने के लिए कहा तो खे’ड़ा को गुस्सा आ गया और उन्होंने एंकर से कहा कि टॉपिक पर ही जबाव दे रहा हूं और आप भी टॉपिक पर ही रहा कीजिए.

पवन खेड़ा ने अंजना कश्यप से कहा कि जब चीन पर बात की जाती है तो कहते हैं नरेगा पर बात कीजिए और जब नरेगा पर बात करते हैं तो कहते टॉपिक पर बात करो. आपका टॉपिक सिर्फ और सिर्फ बीजेपी को मजबूती देना है.

दरअसल बहस के दौरान पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए पवन खेड़ा ने कहा कि जो पीएम मुख्यमंत्रियों की बैठक के दौरान भीलवाड़ा (राजस्थान) मॉडल की बात करता है और पीछे से उसकी सरकार अस्थिर की जा रही है. ऐसा कोरोना संकट के बीच किया जा रहा है.

खेड़ा ने कहा कि पीएलए (चीन की आर्मी) नहीं संभाल पा रहे हो और एमएलए खरीदने चले हो. लेकिन उनसे कोई सवाल नहीं पूछा जाता, उलटा हमसे पूछ रहे कि विधायकों को क्यों छिपाकर रखा है. उन्होंने आगे कहा कि क्यों ना रखे, हमारी सरकार है. हम बचाएंगे और चुनी हुई सरकार है. मजाक बना रखा है.

इसी दौरान एंकर अंजना ओमकश्यप ने उन्हें बीच में ही टोकते हुए कहा कि टॉपिक पर जवाब दीजिए. इसी पर पवन खेड़ा नाराज हो गए और कश्यप से बोले कि मैं टॉपिक पर ही हूं और आप भी टॉपिक पर ही रहा कीजिए. आपका टॉपिक सिर्फ बीजेपी को मजबूती देना है. इसके आलावा आपका कोई और टॉपिक नहीं है.

नाराज कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने एंकर ओम कश्यप पर निशाना साधते हुए कहा कि एक तरफ देश की जमीन पर कोई क’ब्जा कर रहा हैं और आपको देश की जमीन बचाने से कोई मतलब नहीं है. आपको सरकार की कहीं निंदा ना हो जाए इसको बचाना है. देश के साथ मजा’क मत कीजिए.