आरिफ ने कोर्ट में जज के सामने आयशा पर लगाए गं’भीर आरोप, केस में आया नया मोड़

गुजरात: अहमदाबाद की लड़की आयशा का वायरल वीडियो तो आपने भी जरूर देख ही लिया होगा, और उसने वीडियो में जो सब कुछ कहा उसके मुताबिक उसका पति शादी के बाद से ही उसको उतनी तवज्जो नहीं देता था. आयशा अपने पति से बहुत ज्यादा प्यार करती थी, लेकिन शादी हो जाने के बाद उसका पति आरिफ कभी भी उसे वो दर्जा नहीं दे पाया जो एक पत्नी को देना चाहिए.

अहमदाबाद की रहने वाली आयशा और जालौर के रहने वाले आरिफ की शादी साल 2018 में हुई थी, लेकिन शादी के बाद जैसे तैसे करके इन दोनों ने 2 साल निकाले, लेकिन साल 2020 आते-आते इनमें दूरियां बढ़ गयीं और आयशा के पिता द्वारा इसके पति आरिफ पर दहेज प्रथा का केस लगा दिया गया था, जिसको लेकर दोनों के बीच में काफी तल्खी चल रही थी.

पति से एक तरफ़ा बहुत ज़्यादा मोहब्बत करती थी आयशा

Ahmedabad Girl Aysha Case

हो सकता है कि इन सबसे आयशा इतना ज्यादा परेशान हो चुकी हो कि वह इस सारे झमेले को और ज्यादा दिनों तक झेलने के काबिल न बची हो, शायद यही वजह है कि उसने अपने आखरी विडियो में यहाँ तक कह दिया था कि आयशा ल’ड़ने के लिए नहीं बनी है, मैं आजाद रहना चाहती हूँ, किसी के लिए नहीं रुकना मुझे.

आयशा के साबरमती फ्रंट रिवर में अपने आपको समा लेने के बाद, सोशल मीडिया में इसका यह विडियो काफी वायरल हुआ जिसके बाद उसके पति आरिफ को, घट’ना के 2 दिन बाद राजस्थान के पाली शहर से आधी रात के वक्त एक होटल से गिरफ्तार किया गया था.

जज के सामने आरिफ ने अपने पत्नी पर लगाए गंभी’र आरोप

पुलिस ने आरिफ को गिरफ्तार करने के बाद, उसे मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जहां उसने पैसे के बारे में जो बताया उसकी वजह से इस केस में एक नया मोड़ आ गया है.

हालाँकि पुलिस ने कोर्ट से आरिफ को 5 दिन के रिमां’ड पर लेने की दरख्वास्त की थी, लेकिन कोर्ट ने पुलिस को सिर्फ 3 दिन का रिमां’ ही मंज़ूर किया.

जब आरिफ को जज के सामने पेश किया गया, तो उसने बताया कि आयशा का चाल चलन ठीक नहीं था, उसने बताया कि शादी के कुछ दिन बाद ही वे प्रेग्नेंट हो गई थी, लेकिन वह बच्चा मेरा नहीं था.

हालाँकि जब उसके इस आरोप के बाद उससे कुछ सबूत माँगा गया तो वह इसके बारे में कुछ नहीं बता पाया. लेकिन कोर्ट ने पुलिस को कहा है कि वह इस मामले की पूरी तरह से इन्वेस्टिगेशन करे की आखिर सच क्या है.

आरिफ के आरोप लगाने के बाद अब जाँच का पहलू बदलेगा?

आरिफ के इस तरह के आरोप लगाने के बाद से इस केस का रूप एकदम से पलट गया, और जिस तरह से सोशल मीडिया में आयशा को इन्साफ देने की बात कही जा रही थी, अब वहां कुछ लोग आरिफ के समर्थन में नज़र आ रहे हैं.

कोर्ट में आरिफ के बयान के बाद यह मामला थोड़ा उल’झा हुआ सा दिख रहा है, हालांकि अभी यह जांच का विषय है इसके बाद ही कुछ कहा जा सकेगा.

दोनों पति पत्नी अब एक दूसरे पर आरोप लगा चुके हैं, आयशा तो अब नहीं रही, लेकिन बताया जा रहहि कि उसने नदी में कू’दने से पहले उसके फोन से उसके पति आरिफ से 70 मिनिट तक दोनों ने बात की है, लेकिन पुलिस को आरिफ का फोन अभी तक नहीं मिला है.

उसके फोन के मिल जाने के बाद और भी कुछ के बयान ही मेल नहीं खा रहे हैं अब तो यह जांच होने के बाद ही पता लगेगा की हकीकत क्या है.

इधर आयशा के पिता ने कहा है कि चाहे कुछ भी हो जाए उनकी बेटी को इंसाफ मिलना चाहिए, दहेज प्रथा का ये खेल कब बंद होगा, इस पर कोई कानून क्यों नहीं बनता. अभी कितनी और बेटियों को ये भु’गतना होगा.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।