यूपी में पत्रकारों के ख़िला’फ़ इतनी FIR क्यों? अर्नब की गिरफ्ता’री पर ट्वीट कर ट्रोल हुए सीएम योगी, लोगों ने उठाए कई सवाल

अंग्रेजी समाचार TV चैनल Republic TV के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) को बुधवार की रात को अलीबाग कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिका हिरास’त में भेज दिया है. खबर के मुताबिक, मुंबई पुलिस ने ‘अर्नब गोस्वामी’ को कथित तौर पर 53 साल के एक इंटीरियर डिज़ाइनर की आत्मह@#त्या के मामले में गिर’फ्तार किया है. खु दकु#शी केस में अर्नब गोस्वामी 18 नवबंर तक न्यायिक हि’रास’त में रहेंगे।

रिपब्लिक टीवी के संस्थापक अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी के बाद ट्वीट कर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ सोशल मीडिया यूजर्स के निशा’ने पर आ गए, लोग सीएम योगी को जमक’र ट्रोल कर रहे हैं, सीएम योगी के ट्वीट पर यूजर्स कई सवाल उठाते हुए उनसे पूछ रहे है कि, आपने यूपी में पत्रकारों के साथ क्या किया?

republic tv editor in chief

न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मुंबई पुलिस ने अर्नब गोस्वामी को 53 साल के एक इंटीरियर डिज़ाइनर और उनकी माँ की आ त्मह#त्या के मामले में गिर’फ्तार किया है. वही इस मामले पर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि अर्णव गोस्वामी को 2018 के आ त्मह#त्या के मामले में गिरफ्तार किया गया है।

53 साल के एक इंटीरियर डिज़ाइनर का यह मामला पहले बंद हो गया था, जिसकी फाइ’ल अब दुबारा खो’ल दी गई है, आपको बता दें मुंबई पुलिस की टीम ने मंगलवार सुबह रिपब्लिक टीवी के संस्थापक अर्नब गोस्वामी को उनके घर में घु’सक’र गिरफ्तार किया था, उनके परिवार ने इसका विरो’ध किया और उनके साथियों ने इसकी लाइव कवरे’ज करने की कोशिश की।

yogi

आपको बता दें अर्नब की गिरफ्तारी के बाद से भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा गृह मंत्री अमित शाह केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत बीजेपी के कई वरिष्ठ नेताओं महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस की निं’दा की है।

वही महाराष्ट्र सरकार और कांग्रेस पर निशा’ना साधते हुए योगी आदित्यनाथ ने अपने ट्वीट में लिखा वरिष्ठ पत्रकार श्री अर्नब गोस्वामी जी की गिरफ्तारी कांग्रेस पार्टी के द्वारा अ’भिव्य’क्ति की आजादी पर प्रहार है, देश में इमरजेंसी थो’प’ने व सच्चाई का सामना करने से हमेशा मुं’ह छु पा’ने वाली कांग्रेस पुनः प्रजातंत्र का ग#ला घों’ट’ने का प्रयास कर रही है।

सीएम ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, कांग्रेस समर्थित महाराष्ट्र सरकार का यह कृ#त्य लो कतंत्र के चौ’थे स्त’म्भ मीडिया को स्वतंत्र रूप से कार्य करने से रोकने का कु’त्सि त प्रयास है, योगी के इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए, लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं।

rohini

पत्रकार रोहिणी सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, सूप बोले तो बोले अब बहत्तर छेद वाली चलनी भी FOE पर बोलने लगी। यूपी में पत्रकारों के साथ आपने क्या किया? नमक रोटी का सच लिखने पर मुक़दमा, भुखमरी का सच लिखने पर मुक़दमा, आदर्श ग्राम का सच लिखने पर मुक़दमा, हाथर’स का सच लिखने पर मुक़दमा, 50 से ज्यादा पत्रकारों पर मुकदमे किए गए।