VIDEO: रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्‍शी ने ‘रिपब्लिक भारत’ के लाइव टीवी डिबेट में पैनलिस्ट को कहा मादर***, वीडियो वायरल

भारत और चीन सेना के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर अब भी तनाव कि स्थिति बनी हुई है. इस विवाद को लेकर टीवी न्यूज़ चैनलों पर प्रतिदिन प्राइम टाइम डिबेट कि जा रही हैं. ऐसी ही एक बहस इस मुद्दे को लेकर अर्नब गोस्वामी के चैनल आर भारत पर हो रही थी. इस डिबेट के दौरान कई पेनलिस्ट मौजूद थे. इसी बीच पूर्व आर्मी अफ़सर और एक पेनलिस्ट आपस में भीड़ गए और दोनों के बीच काफी गर्मा-गर्म बहस हुई.

इसी दौरान आर्मी अफ़सर का पारा चढ़ गया और उन्होंने लाइव टीवी पर ही पेनलिस्ट को माँ की गाली दे डाली. इस शो की क्लिप वरिष्ठ पत्रकार विनोद कपरी ने ट्वीटर पर शेयर कि है जिसके बाद से ही यह सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं.

कपरी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए अपने ट्वीट में तंज कसते हुए लिखा कि भारतीय टीवी के इतिहास का एक और गौरवशाली क्षण: अब माँ ब’हन की गा’लि’याँ लाइव प्रसारण.

इस वीडियो में रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बख्‍शी भारत-चीन के वि’वा’द को लेकर हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान से कुछ कह रहे थे. तभी रिजवान ने उन्हें बीच में टोकते हुए कहा कि वही तो हम कह रह हैं कि युद्ध कम करो.

इस पर रिटायर्ड मेजर जनरल काफी नाराज़ हो गए और उन्होंने रिजवान को गुस्से में नीच आदमी तक बोल दिया. लेकिन इसके बाद भी बख्शी का गुस्सा शांत नहीं हुआ. बख्‍शी को इतना गुस्सा आ रहा था कि वो भूल गए कि वह एक लाइव शो में बैठे है और उन्होंने रिजवान को माँ की गा’ली दे डाली.

डिबेट का यह विडियो क्लिप अब वायरल होने लगा है और यूजर इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है. ऐसे ही एक यूजर ने लिखा कि जीडी बख्‍शी ने गा’ली देकर अर्नब के रिपब्लिक चैनल का लेवेल दिखा दिया है.

वहीं एक अन्य ने लिखा कि विपक्षियों की आवाज़ को दबाने और उसे कमजोर करने के लिए मां ब’हन की गा’ली तब तक दो जब तक कि आपके सामने वाला शर्म के कारण अपना सर ना झुका ले ओर चुप ना हो जाए. आज के इस वक्त में बस इसी पाखंड को राष्ट्रवाद का नाम दिया गया है.

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच लद्दाख के गलवान घा’टी में पिछले करीब दो महीने से तनाव कि स्थिति बनी हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक दिन पहले ही अचानक लद्दाख का दौरा किया. वहीं शांति बनाए रखने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत भी कि जा रही है लेकिन इससे कोई हल नहीं निकल सका हैं.

साभार- जनसत्ता