TRP किंग ‘अर्नब गोस्वामी’ पुलिस वैन में रहम की भी’ख मांगते नज़र आए, केंद सरकार से लगायी गुहार

मुंबई/महाराष्ट्र: रिपब्लिक टीवी चैनल के Editor-in-Chief अर्नब गोस्वामी को 14 दिन के लिए हिरासत में रखा गया है, इस बीच 2 बार उनकी ज़मानत भी ख़ारिज हो गयी है. आज सुबह से सोशल मीडिया पर (Arnab Goswami) का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें अर्नब गोस्वामी पुलिस की वैन में मीडिया से बात करते दिखाई दे रहे हैं.

अर्नव गोस्वामी कैदि’यों को ले जाने वाली पुलिस वैन के अन्दर से उनके ही मीडिया चैनल के एक रिपोर्टर से चि’ल्ला-चि’ल्ला कर रहम की भी’ख मांग रहे हैं कि मुझे पुलिस स्टेशन में सुबह जेलर ने घ’सी’टा और मुझे पी#टा भी गया. में इन लोगों से बार बार रिक्वेस्ट कर रहा हूं कि प्लीज मुझे मेरे वकील से बात करने दीजिए, यह लोग उसको किसी से बात नहीं करने दे रहे हैं.

‘अर्नब गोस्वामी’ रहम की भी’ख मांगते नज़र आए

arnab goswami mumbai

Arnab Goswami ने पुलिस वैन के अंदर से ही दोनों हा’थ जोड़कर कहा में भारत की जनता से कह रहा हूँ इधर मेरी जा#न का खत’रा है. मै इन लोगों को बोल रहा हूं किसी से भी मेरी बात करवा दीजिए, ये मुझे बोल रहे हैं अभी किसी वकील से बात नहीं होगी.

भारत की जनता से मेरी अपील है, मेरी पुलिस कस्टडी इन्होने खा’रि’ज कर दी है, और मेरे साथ यहां पर बहुत जु’ल्म हो रहा है. यह लोग जानबूझकर देर करना चाहते हैं, और मुझे बा’हर नहीं आने दे रहे.

इस वक्त आप मेरी हालत को देख रहे हैं, और मुझे ये लोग घ’सीट ते हुए ले जा रहे थे. सुबह जेलर ने भी मुझे पी#ट’ने की कोशिश की, मुझको यहाँ पर किसी से भी बात नहीं करने दी जा रही है.

केंद सरकार से भी गुहार लगायी

 

अर्नब गोस्वामी ने केंद्र सरकार से उनके मामले में हस्तक्षे’प करने के लिए भी आग्रह किया है. इसके अलावा सामूहि’क रूप से वह सुप्रीम कोर्ट से भी यह आग्रह कर रहे हैं कि इधर मुझे जान का खत’रा है, प्लीज मुझे ज’मान’त दे दीजिए. सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार को इस मामले में देखना चाहिए कि यहाँ मेरे साथ क्या क्या हो रहा है, यह पूरी दुनिया देख रही है.

एक बार आपको फिर याद दिला दें कि अर्नब गोस्वामी को महाराष्ट्र के इंटीरियर डिजाइनर को आ’त्म#त्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है. बीते 4 नवंबर की अल सुबह अर्नब गोस्वामी को उनके मुंबई स्तिथ आवाज से पुलिस ने गिरफ्तार किया था, वे लगातार आपको इस मामले में निर्दोष बता रहे हैं.

इंटीरियर डिजाइनर की बेटी अदन्या नाइक को यकीन है न्याय मिलेगा

इधर महाराष्ट्र के इंटीरियर डिजाइनर जो अब इस दुनिया में नहीं है, उनकी बेटी अदन्या नाइक को न्याय मिलने का इंतजार है. बताया जाता है कि गोस्वामी ने इंटीरियर डिजाइनर से अपने ऑफिस में काफी काम करवाया जोकि करोड़ों का लेनदेन था. लेकिन अर्णब गोस्वामी ने उनको कभी पर्याप्त ऐसा नहीं दिया था.

जिसके चलते वो आ’र्थि’क तं’गी से जू’झ रहे थे क्योंकि उसे मार्केट का और उनके पास काम करने वाले लोगों को बकाया पैसा भी चुकाना था. जब चारों तरफ से रास्ते बंद होते देखे, तब उसने इस दुनिया को छो’ड़’ने का फैसला कर लिया था.

अर्नब गोस्वामी ने इस इंटीरियर डिज़ाइनर को साल 2016 में काम दिया था, और साल 2018 में उनकी आ’त्मह#त्या कर लेने के बाद अर्नब गोस्वामी पर उसका परिवार मुश्कि’ल से एफ आई आर दर्ज करवा पाया था. जिसके बाद से ही इस मामले में ली’पापो’ती हो रही थी अब जाकर कहीं कुछ एक्शन लिया गया है.