आयशा का वीडियो देख असदुद्दीन ओवैसी ने आपा खोया, बोले म’र्द कहलाने के लायक नहीं तू

हैदराबाद: अपने पति की प्रता’ड़’ना से तं’ग आकर अहमदाबाद की रहने वाली लड़की आयशा ने साबरमती नदी में कू’दकर अपनी जा’न दे दी. आयशा की Moत के बाद ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएएम) चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी क’ड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है.

गुजरात के अहमदाबाद की आयशा के वायरल हो रहे वीडियो को असदुद्दीन ओवैसी ने देखा, उस बच्ची का वो विडियो देखने के बाद ओवैसी ने कहा कि मैंने उस बच्ची का वीडियो देखा. अपनी बीवी से किसी भी तरह से पैसे की मांग करना म’र्दानगी नहीं है, और ऐसा जो कोई भी ऐसा करता है वह म’र्द कहलाने के लायक ही नहीं है.

असदुद्दीन ओवैसी बोले लात मा’रो ऐसे गधों को

Owaisi React on Ayesha Case

उन्होंने कहा है कि मैं आप तमाम देश भर के लोगों से यह अपील कर रहा हूँ, चाहे आप कोई भी मजहब से ताल्लुक रखते हों, दोस्तों दहेज की इस ला’लच को हमेशा के लिए ख’त्म करो.

इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं उन तमाम मुसलमान भाइयों से यह अपील कर रहा हूं कि अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम (पैगंबर मोहम्मद) ने ये इरशाद फरमाया हुआ है कि तुम लोगों में सबसे बेहतरीन सिर्फ वो है, जो अपने घर परिवार वालों के साथ अच्छा व्यवहार करे.

दहेज़ को ख़तम करने पर बोले

ओवैसी ने कहा, ”अहमदाबाद में जो मुसलमान बच्ची का द’र्दनाक वीडियो आया है जिस बच्ची ने इस तरह से अपनी ज़िन्दगी को ख़तम किया, उसकी वजह सिर्फ दहेज़ का ला’लच है. मैं आप तमाम से अपील कर रहा हूं चाहे आप कोई भी मजहब से हों दहेज की ये लालच को हमेशा के लिए खत्म करो.

वो आयशा के पति आरिफ की और इशारा करते हुए बोले कि अगर तुम मर्द हो, तो बीवी पर जु’ल्म करना ये म’र्दानगी नहीं है. बीवी को मा’रना म’र्दानगी नहीं है. अपनी बीवी से पैसों की मांग करना ये भी म’र्दानगी नहीं है. मेरी नज़र में तुम म’र्द कहलाने के लायक ही नहीं हो अगर होते तो ऐसी हरकत हरगिज़ न करते.

उन्होंने कहा, ”वो (आयशा का पति) एक मासूम सी बच्ची पर जुल्म किया, जिसकी वजह से वो तं’ग आ चुकी थी. सोचो किस कदर उसने उस बच्ची पर ज़ु’ल्म किया होगा और उसके इस दुनिया से चले जाने के बाद भी वो अपने मामू की शादी में मज़े से घूमता फिर रहा.

बेटियों के लिए भावुक हुए

ऐसे लोगों को शर्म आना चाहिए, कोई किसी की बेटी के साथ ऐसा कैसे कर सकता है. अगर उसकी जगह तुम्हारी बच्ची होती तब भी क्या तुम उसके साथ वैसा ही होने देते?, मैं अल्लाह से दुआ करूंगा या अल्लाह तुम सबको गा’रत कर दे, यानी कि ब’र्बाद कर दें.

एम आई एम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी बोले, हर बात की तकली’फ तुम नहीं समझ सकते, लेकिन मैं कई ऐसे बाप को जानता हूं जो जिंदगी के आखिरी वक्त में मेरा हाथ पकड़ कर बोले, असद साहब बच्ची की शादी है कुछ इंतजाम करवा दो मेरे म’रने से पहले कुछ हो जाए तो ठीक रहेगा.

किसी की बच्ची के साथ ऐसी हरकत करते हुए, अगर तुम अपने आप को मर्द कहते हो तो तुम मर्द नहीं जान’वर से भी बुरे इंसान हो.

कई बार देखने में आता है, ऐसे कितने लोग हैं जो अपनी बीवियों पर गु’स्सा करते हैं. दहेज की मां’ग करते हैं और दुनिया के सामने बाहर निकल कर अपने आपको बड़ा सफेदपोश फरिश्ता दिखाते हैं.

दिल्ली (नोएडा) के रहने वाले ज़ुबैर शैख़, पिछले 10 वर्षों से भारतीय राजनीती पर स्वतंत्र पत्रकार और लेखक के तौर पर कई न्यूज़ पोर्टल और दैनिक अख़बारों के लिए कार्य करते हैं।