100 करोड़ Vs 15 करोड़, असदुद्दीन ओवैसी ने वारिस पठान के वि'वादित बयान को लेकर लिया एक्शन

100 करोड़ Vs 15 करोड़, असदुद्दीन ओवैसी ने वारिस पठान के वि’वादित बयान को लेकर लिया एक्शन

नई दिल्लीः ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रवक्ता और महाराष्ट्र के पूर्व विधायक वारिस पठान के वि’वादित बयान को लेकर बवाल मचा हुआ है। पठान के वि’वादित बयान को लेकर सियासी पारा इतना चढ़ गया है। चौतरफा आलोचनाओं से घिरे मुंबई के भायखला से पूर्व विधायक पठान की गिरफ्तारी की मांग हो रही है। और सबसे बड़ी बात की गिरफ्तारी की मांग कोई और नहीं बल्कि मुसलमान ही कर रहे है।

अब इसी मामले को लेकर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी वारिस पठान को लेकर एक्शन लिया है। बयान के बाद पार्टी की किरकिरी के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने वारिस पठान के मीडिया से बात करने पर रोक लगा दी है।

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) पार्टी की और कहा गया है की जबतक पार्टी इजाजत नहीं देगी तबतक वारिस पठान सार्वजनिक रूप से कोई बयान नहीं दे सकते। बात दें नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ कर्नाटक के गुलबर्गा में जनसभा के दौरान वारिस पठान ने विवादित बयान दिया।

उन्होंने कहा था, हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं। यह बात याद रख लेना वही इस बयान के बाद उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है। असदुद्दीन ओवैसी ने भी इस बयान पर कड़ी निंदा की है।

आपको बता दें AIMIM के प्रवक्ता वारिस पठान हिन्दी पट्टी में पार्टी का जाना-माना चेहरा है। रैली में वारिस पठान बोले थे हमने ईंट का जवाब प’त्थर से देना सीख लिया है। लेकिन हमको इकट्ठा होकर चलना पड़ेगा. आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती है, उसको छीन लिया जाता है।

वही अपने दिए हुए बयान को लेकर वारिस पठान ने सफाई भी दी है। उन्होंने कहा कि मैंने किसी धर्म का नाम नहीं लिया और ना ही किसी के खिलाफ कुछ कहा. हालांकि, उन्होंने इस बयान पर माफी नहीं मांगी थी।

Leave a Comment