‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने के आरोप में असम के इस TV शो पर लगा बैन

असम में हिन्दू संगठनों के विरोध के बाद एक टीवी चैनल के शो को दो महीने के लिए प्रतिबंधित कर दिया हैं. दरअसल हिंदूवादी संगठनों का आरोप हैं कि यह शो लव जि’हाद को बढ़ावा देता हैं और यह शो असम की संस्कृति को धूमिल कर रहा है. वहीं स्थानीय प्रशासन ने मामले को तूल पकड़ता देख 24 अगस्त को शो बेगम जा’न पर अलगे दो महीने तक बैन लगा दिया हैं. यह शो एंटरटेनमेंट चैनल रेंगोनी पर प्रसारित किया जा रहा था.

चैनल की तरफ से कहा गया हैं कि ये शो धर्म से परे इंसानियत को बढ़ावा देता था. इस शो को इसी साल जुलाई से प्रसारित किया जा रहा था. शो में दिखाया गया था कि एक हिन्दू लड़की कैसे एक मुस्लिम शख्स की मदद से समाज में लड़ती हैं. इसी को लेकर बाद में विवाद खड़ा हो गया.

सत्ताधारी बीजेपी के वैचारिक संगठन आरएसएस से जुड़े हिंदू जागरण मंच और अन्य कई संगठनों इस शो पर आपत्ति जाहिर की. सभी संगठन शो के विरोध में सड़कों पर उतर आए और सोशल मीडिया के जरिए शो को बैन करने की मांग उठाई जाने लगी.

एनडीटीवी से बातचीत करते हुए गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर एमपी गुप्ता ने कहा कि इसे लेकर जिले स्तर की 10 सदस्सीय कमेटी ने चर्चा की थी. शो पर लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप हैं.

अभी शांति व्यवस्था को कायम रखने के उद्देश्य से इस शो को दो महीने के लिए बैन किया गया हैं. वहीं इस मामले में पुलिस पर भी आरोप लगाए जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि बेगम जान की लीड एक्ट्रेस प्रीति कोंगकोना ने शिकायत दी थी लेकिन उस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया.

प्रीति ने अपनी शिकायत में बताया था कि सोशल मीडिया पर ट्रोल्स द्वारा उनका उत्पी’ड़न किया जा रहा है. मुझे और मेरे परिवार का उत्पी’डन किया जा रहा हैं. इतना ही नहीं मुझे रे’प की धम’की तक दी जा रही हैं.

वहीं इस पर हिंदू जागरण मंच के प्रदेश अध्यक्ष मृणाल कुमार लश्कर ने कहा कि बेगम जान शो ने हिंदू समाज या असमिया समाज के विचारों का चित्रण नहीं किया हैं. असमिया समाज में पहले से ही काफी लव जिहाद हो रहा हैं और ये सीरियल इसे और ज्यादा बढ़ावा दे सकता है.

साभार- एनडीटीवी