VIDEO: मैं दो कौड़ी के लोगों का नाम नहीं लेता’, अटल बिहारी वाजपेयी का वीडियो शेयर कर राहत को अपशब्द कह रहे लोग

मंगलवार को मशहूर शायर राहत इंदौरी ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है. उनके निधन पर उनके चाहने वाले और फैंस भारी सदमे में है. सोशल मीडिया पर अपने पसंदीदा शायर को याद करते हुए फैंस उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे है और उनकी शायरियों को याद कर रहे है. इसी बीच राहत इंदौरी का एक बेहद ही पुराना वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा है. इस वीडियो में राहत इंदौरी दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पर शायरी कहते नजर आ रहे हैं.

वीडियो में राहत साहब वाजपेयी के घुटनों के ऑपरेशन पर मजाक उड़ा’ते हुए शायरी कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर कुछ यूजर इस वीडियो को शेयर करते हुए दिवं’गत शायर को ट्रोल करने में लगे हुए हैं.

दरअसल वायरल वीडियो में अटल बिहारी वाजपेयी का नाम लिए बिना राहत इंदौरी कहते हैं कि मेरे शेर करोड़ों के होते हैं. मैं इनमें दो-दो कौड़ी के लोगों का नाम लेकर अपने शेर की कीमत नहीं गिराना चाहता हूं.

इसके आगे वो कहते है कि जिस के कंधों पर 100 करोड़ लोगों का जिम्मा है उससे खुद अपना वजन नहीं संभल रहा है. इसके बाद वो एक शेर पढ़ते है जो इस तरह है- आईना गर्क-गर्क कैसा है, रंग चेहरे का जर्द कैसा है. काम घुटनों से जब लिया ही नहीं, तो फिर ये घुटनों में दर्द कैसा है.

इस वीडियो को शेयर करते हुए कुछ यूजर्स कह रहे हैं कि अपने पूर्व प्रधानमंत्री के लिए राहत इंदौरी ने कुछ इस तरह की बातें बोली हैं. वहीं कुछ लोग लिख रहे हैं कि अपनी शायरियों में हिंदुस्तान की बात करने वाले लोग इस तरह से अपने देश के पीएम का मजाक उड़ा’ते हैं क्या?

वहीं कुछ लोग राहत इंदौरी के लिए इतनी अपमानजनक बातें लिख रहे हैं कि जिन्हें जहां दिखाया भी नहीं जा सकता हैं. आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर कई यूजर इस तरह की चर्चा भी कर रहे है कि शिखर धवन की अंगुली की चोट तक पर ट्वीट करने वाले पीएम नरेंद्र मोदी ने राहत इंदौरी के नि’धन पर श्रद्धांजलि के दो शब्द भी ट्वीट के जरिए क्यों नहीं कहें.

वहीं कुछ लोगों का कहना हिया कि राहत इंदौरी के अटलज बिहारी पर इस शायरी के वीडियो को लेकर ही शायद पीएम मोदी द्वारा उन्हें श्रद्धांजलि नहीं दी गई हैं.

साभार- जनसत्ता