आईएमए के बयान ने बढ़ाई चिंता, भारत में शुरू हो चूका है कोरोना का सामुदायिक संक्र’मण, बचने के दो विकल्प

भारत में कोरोना वायरस ने अब खौफनाक रूप ले लिया हैं. तेजी से फ़ैल रहे कोरोना की रफ़्तार अब और तेज हो गया है. इस लेकर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने एक बयान जारी किया है जिसने देश में कोरोना के बढ़ते सं’क्रम’ण पर चिंता को और बढ़ा दिया हैं. आईएमए ने अपने बयान में कहा कि भारत में कोरोना वायरस महामारी का कम्युनिटी स्प्रेड यानि सामुदायिक संक्रमण शुरू हो चुका है.

जिसका सीधा सा मतलब है कि अब देश में आगे हालात और ज्यादा खराब होने की संभावनाओं हैं. न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बातचीत में आईएमए के अध्यक्ष डॉ वीके मोंगा ने कहा कि कोविड-19 महामारी अब घातक रफ्तार से बढ़ने लगी है.

उन्होंने आगे कहा कि पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन सामने आने वाले नए मामलों की संख्या लगभग 30,000 से अधिक हो चुकी हैं. यह देश के लिए वास्तव में एक बहुत ही खराब स्थिति है. कोरोना वायरस का संक्र’मण अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी फैल रहा है जो की एक बहुत बुरा संकेत है.

उन्होंने आगे कहा कि इससे पता चलता है कि देश में कोरोना महामारी का कम्यूनिटी स्प्रेड (सामुदायिक प्रसार) शुरू हो चुका है. ऐसे में अब पहले से भी ज्यादा सावधानियां बरतने की जरूरत हैं.

वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के अंदर कोरोना वायरस के संक्र’म’ण के 38,902 नये मामले सामने आये हैं. जबकि इस दौरान 543 लोगों की मौ’त हो चुकी हैं.

इसी के साथ देश भर में कोरोना के कुछ केसों की संख्या बढ़कर 10 लाख 77 हजार 618 पर पहुंच गई हैं. जिसमें से 3 लाख 73 हजार 379 एक्टिव मामले हैं जबकि 6 लाख 77 हजार 423 लोग स्वस्थ होकर अस्पलातों से आ चुके हैं. इस दौरान कुल 26,816 लोगों की जा’न जा चुकी है.

इसे लेकर डॉ. मोंगा ने कहा कि अब गांवों और कस्बों तक कोरोना महामारी पहुंच चुकी हैं, जहां से इसे नियंत्रित कर पाना आसन नहीं है. हम कोरोना को दिल्ली में कंट्रोल कर रहे हैं, लेकिन महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, गोवा के अंदरूनी कस्बों और इलाकों का क्या होगा जो हर दिन एक नए हॉटस्पॉट के रूप में उभर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि ऐसे में इसे रोकने के दो विकल्प हैं. पहला तो यह कि 70 फीसदी आबादी इससे संक्रमित हो जाए और उनके अंदर इससे लड़ने की इम्यूनिटी विकसित हो जाए. वहीं दूसरा तरीका यह है कि इस महामारी की वैक्सीन तैयार हो जाये.

साभार- आजतक