लॉकडाउन के बीच योगी सरकार ने लिया एक और बड़ा फैसला, अन्य राज्यों में 14 दिन क्वारन्टीन पूरा कर चुके मजदूरों…

लखनऊ: राजस्थान के कोटा जिले में रहे दस हजार छात्रों को लाकडाउन की गाइडलाइन के अनुरूप यूपी में वापस लाने के सफल आपरेशन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब गरीब मजदूरों को वापस लाने का फैसला किया है. इसके बारे में आज अपने आवास पर आहूत बैठक में योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा की उत्तर प्रदेश अन्य राज्यों में 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके अपने प्रदेश के श्रमिकों, कामगारों तथा मजदूरों को चरणबद्ध तरीके से वापस लाएगा।

बता दें उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को देखते हुए राज्य में 15 डिस्ट्रिक्स में नोडल ऑफिसर्स बनाए गए हैं. इन ऑफिसर्स के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीटिंग की मीटिंग में नोडल ऑफिसर्स को जिलों में कैंप करने जाने से पहले स्टेट गवर्नमेंट के कोरोना से लड़ने के प्लान के बारे में बताया गया।

राशन किट और एक हजार रुपये भरण-पोषण भत्ता भी दिया जाएगा

साथ ही इस मीटिंग में एक और बड़ा फैसला लिया है. दूसरे राज्यों में फंसे यूपी के मजदूरों के लिए योगी सरकार ने फैसला किया है कि अब उन्हें वापस यूपी लाया जाएगा. इसके लिए अधिकारियों को एक कार्य योजना तैयार करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में सूची तैयार की जाए, जिसमें सम्बन्धित राज्य में स्थित प्रदेश के मजदूरों का विवरण दर्ज हो।

बता दें ये मजदूर दूसरे राज्य सरकारों के सहयोग से यूपी बॉर्डर तक आएंगे. इसके बाद सभी की थर्मल स्क्रीनिंग होगी. पूल टेस्टिंग के लिए सं’दि’ग्ध मजदूरों के सैम्पल लिए जाएंगे. बॉर्डर से संबंधित जिलों तक सरकार बस परिवहन सुविधा मुहैया कराएगी।

संबंधित जिलों के शेल्टर होम में भी मजदूर 14 दिन का क्वारंटीन पूरा करेंगे. 14 दिन का क्वारंटीन पूरा होने के बाद सभी मजदूर अपने घर जा सकेंगे. इतना ही नहीं इन मजदूरों को राशन किट और एक हजार रुपये भरण-पोषण भत्ता भी दिया जाएगा।

Leave a Comment