बंगाल: विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बहुत बड़ा झटका? भाजपा के 4 सांसद, 1 विधायक और 16 पार्षद सहित पार्टी के 21 नेता

पश्चिम बंगाल में जैसे-जैसे 2021 का विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है, राजनीतिक सरगर्मी भी तेजी से बढ़ती जा रही है। बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने 21 जुलाई को पार्टी की शहीद दिवस सभा के दौरान दल को छोड़ चुके नेताओं और कार्यकर्ताओं से घर वापसी का आह्वान किया था।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आह्वान का असर दिखने लगा है. लोकसभा चुनाव के बाद तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए दक्षिण दिनाजपुर जिले के पूर्व तृणमूल जिलाध्यक्ष व पूर्व विधायक विप्लव मित्रा और उनके भाई प्रशांत मित्रा तृणमूल कांग्रेस में वापस लौट आए हैं।

वही शुक्रवार को कोलकाता में तृणमूल मुख्यालय में शिक्षा मंत्री और पार्टी महासचिव पार्थ चटर्जी ने उन्हें तृणमूल कांग्रेस का झंडा थमाकर पार्टी में स्वागत किया। बंगाल बीजेपी के 21 नेता तृणमूल कांग्रेस TMC में शामिल होने वाले है हो सकते हैं।

आपको बता दें नब्भारत टाइम्स की खबर के अनुसार, 4 सांसद, 1 विधायक और 16 पार्षद भी तृणमूल कांग्रेस में वापसी लौटने के संकेत है. सूत्रों कि मानें तो इनमें से अधिकतर टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए थे और अब ये घर वापसी की योजना बना रहे हैं। अगर यह सही है तो यह पश्चिम बंगाल बीजेपी के लिए विधानसभा चुनाव से पहले बहुत बड़ा झटका साबित हो सकती है।

वही सूत्रों के मुताबिक, एक बीजेपी सांसद, जो दो बार सांसद रह चुके हैं और पश्चिम बंगाल से बताए जा रहे हैं। वह भी पिछले तीन महीनों से दिल्ली में टीएमसी नेताओं से संपर्क बनाए हुए हैं और टीएमसी में शामिल होने की इच्छा जता चुके हैं।