देवबंद को आतं’कवाद की गंगोत्री बताने पर गिर्राज सिंह को बीजीपी हाई कमान ने किया तलब

हमारे देश की राजनीति ऐसे ही रही है, जिसमें सभी नेता हमेशा से ही दूसरे नेता पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते रहे हैं। और यह तब और बढ़ जाते हैं, जब कोई चुनाव नजदीक होता है, इसके अलावा कई विवादित बयानों से भाजपा का पुराना नाता रहा है। लेकिन दिल्ली विधानसभा चुनाव की हार के बाद लगता है कि अब पार्टी, बदले हुए मूड में नजर आ रही है। जिससे अब आगे भविष्य में ऐसे बड़े नुकसान न हों.

जहां अमित शाह ने इस बात की हामी भरी की, भड़का’ऊ नारों की वजह से दिल्ली के चुनाव में हार हुई। तो दूसरी और इनके मंत्रियों के उल जलूल बयान थमने का नाम नही ले रहे हैं. अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश के केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी, एक ऐसा ही बयान दिया था जिसके बाद काफी बवाल हुआ था।

देवबंद को आ’तंकवाद की गंगोत्री बताया गिर्राज सिंह ने

Girraj Singh Kendriya Mantri

दिल्ली विधानसभा चुनाव के समय भी गिर्राज सिंह पर विवादित बयान देने के आरोप लगे हैं. इसके अलावा ये सहारनपुर के एक कार्यक्रम में पहुंचे थे, जहाँ इन्होने देवबंद को आतं’कवाद की गंगोत्री कह दिया था.

साथ ही इन्होने यह भी कहा था कि हाफिज सईद जैसे बड़े आतं’कवादी यहीं से निकलते हैं। अब खबर आ रही है कि। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा जी ने केंद्रीय मंत्री गिर्राज सिघं को उनके विवादित बयान देने की वजह से तलब किया है।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि बीजेपी हाईकमान ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को फिजूल की बयानबाज़ी से दूर रहने को कहा है, और साथ ही उनके दिए हुए बयानों पर उन्होंने आपत्ति जताई है।

कहा था, भारत माता पर उंगली उठाने वालों की आंखें निकाल लेंगे

आपको बता दें कि बीते शुक्रवार को भी केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बेगूसराय के मुस्लिम बहुल इलाके से। खुली जीप में सफर किया था और बिजली के साथ चलते हुए लोगों को संबोधित किया ‘भारतवंशी तेरा मेरा क्या रिश्ता जय श्रीराम जय श्रीराम।

इसके अलावा उन्होंने एक भाषण दिया था जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान का अवतार बताया और इतना ही नहीं, उन्होंने अपने भाषण में यह तक कह दिया था कि भारत माता पर उंगली उठाने वालों की आंखें निकाल लेंगे।

वैसे गिर्राज सिंह मीडिया में तभी आते हैं, जब उन्होंने कोई विवादित बयान दिया होता है। विवादित बयान और बेमतलब की बातों से इनका पुराना नाता रहा है।

Leave a Comment