VIDEO: फिर पकड़ा गया बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय का झूठ, ट्विटर ने की कार्रवाई

सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी ट्विटर (Twitter) ने भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malaviya) द्वारा किसानों के विरोध प्रदर्शन से संबंधित एडिटेड वीडियो क्लिप पोस्ट करने पर ट्वीट में मैनिपुलेटेड मीडिया (Manipulated media) का लेबल जोड़ दिया है।

केंद्र सरकार द्वारा लाये गए नये तीन कृषि कानून के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन सड़क पर ही नहीं सोशल मीडिया पर भी खूब चल रहा है. जहां एक ओर किसान अपनी मांगों को लेकर सड़क पर डटे हुए हैं वहीं लोग ट्विटर पर एक दूसरे को खूब आड़े हाथ ले रहे हैं ऐसा ही एक मामला हाल ही में सामने आया है जब ट्विटर ने एक ट्वीट को मेनुपुलेटेड मीडिया करार दिया है।

आपको बता दें देश के किसान केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ सरकार से लड़ाई लड़ रहे हैं। उनकी मांग है कि सरकार इन कृषि कानूनों को वापस ले, जब तक सरकार इन्हें वापस नहीं ले लेती वे सड़क से नहीं हटेंगे हालांकि सरकार और किसान नेताओं के बीच इस पर वार्ता भी हुई है लेकिन कोई बात नहीं बानी इसी बीच अब किसान आंदोलन से जुड़ी एक तस्वीर पर भी खूब बवा’ल मचा हुआ है।

ट्विटर ने अमित मालवीय के इस ट्वीट के ‘मैनिपुलेटिड मीडिया’ करार दिया है।

MALVIYA

दरअसल, सिंधु बॉर्डर के पास किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई थी जिसकी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है जिसमें एक जवान बुजुर्ग किसान को डं’डा मा’रते हुए दिख रहा है। जिसको लेकर देश के बहुचर्चित लोग टिप्पणियां कर रहे हैं कुछ का कहना है कि यह तस्वीर सच नहीं है बल्कि एजेंडे के तहत सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही है।

अब इस तस्वीर पर बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय के ट्वीट पर ट्विटर ने मेनू प्लेटेड मीडिया का लेबल लगा दिया। दरअसल झड़प के बाद से ही यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है इस तस्वीर पर बीजेपी आईटी हेड के सेल अमित मालवीय ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो ‘प्रोपेगेंडा बनाम रियलिटी’ का नाम देकर शेयर किया और लिखा कि ‘राहुल गांधी लंबे समय बाद के सबसे बड़े अवि’श्वसनी’य विपक्षी नेता हैं।

बता दें कि किसान आंदोलन से जुड़ी इस तस्वीर को राहुल गांधी ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया था और लिखा था कि ‘बड़ा ही दुखद फोटो है हमारा नारा तो ‘जय जवान जय किसान’ था लेकिन आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अ’हंका’र ने जवान को किसान के खिलाफ खड़ा कर दिया है यह बहुत ख’तरना’क है’ ।

आपको बता दें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है कि अमित मालवीय ने कथित तौर पर घटना का एक काटा हुआ और अधूरा वीडियो पोस्ट किया था। जिसके बाद अमित मालवीय के ट्वीट पर ट्विटर की इस कार्यवाही के बाद लोग उन्हें जमकर ट्रोल कर रहे हैं।