JNU विवाद में विपक्ष के साथ आए बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी, बॉलीवुड डायरेक्टर बोले- एक और दे’शद्रो’ही…

नई दिल्‍ली: दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार को हुई हिं’सा के बाद हर जगह पर सिर्फ जेएनयू की ही चर्चा है, हलाकि अभी जेएनयू में हुई हिं’सा के गुनहगार तो पकड़े नहीं गए लेकिन जेएनयू के मामले को राजनीति ने मजबूती से पकड़ लिया है. नागरिकता कानून और जामिया हिं’सा के बाद जेएनयू के मामले से उन सरकार विरोधी प्रदर्शनों को एक तरह से एक्सटेंशन मिला है। जिनके सहारे विपक्ष भी मोदी सरकार की घेराबं’दी में जुटा है।

बता दें जेएनयू हिं’सा को लेकर जहां विपक्षी दल वाइस चांसलर एम जगदीश कुमार पर ह’मलावर हैं, तो वहीं अब सत्तारूढ़ बीजेपी के दिग्गज नेता एवं पूर्व HRD मंत्री मुरली मनोहर जोशी ने भी कुलपति को पद से हटाए जाने की मांग कर दी है। इस बात को लेकर बॉलीवुड डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने ट्वीट किया है।

डायरेक्टर अनुराग कश्यप का ट्वीट अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. अनुराग कश्यप ने अपने ट्वीट में मुरली मनोहर जोशी को दे’शद्रो’ही बताया है, साथ ही उन्हें पाकिस्तान भेजने की सलाह भी दी है. दरअसल, मुरली मनोहर जोशी ने कहा था कि यह हैरान करने वाली बात है कि कुलपति विश्वविद्यालय में फीस वृ’द्धि की समस्या के समाधान के लिए सरकार के प्रस्ताव को लागू करने को तैयार नहीं हैं।

आपको बता दें मुरली मनोहर जोशी ने ट्वीट कर कहा कि सरकार ने वाइस चांसलर जगदीश कुमार से छात्रों और टीचरों से मिलकर वि’वाद को सुलझाने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया और हठी बने रहे। उन्होंने कहा कि अब जगदीश कुमार को जेएनयू वाइस चांसलर के पद से हटा देना चाहिए।

मुरली मनोहर जोशी ने जेएनयू के कुलपति के बारे में बात करते हुए लिखा, यह एक खौ’फना’क है कि वाइस चांसलर ने सरकार के आदेश को लागू नहीं करने का हठ अपनाया। यह नजरिया निंदनीय है और मेरी राय में ऐसे वाइस चांसलर को पद पर बने रहने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

ग़ौरतलब है कि इससे पहले मानव संसाधन विकास सचिव अमित खरे ने एम जगदीश कुमार का समर्थन करते हुए कहा था कि उन्हें वाइस चांसलर के पद से हटाना समस्या का समाधान नहीं है। उन्होंने कहा कि शुल्क लागू नहीं किए जाने के छात्रों के दावे को लेकर HRD मंत्रालय शुक्रवार को फिर से जेएनयू वाइस चांसलर से बात करेंगे।