VIDEO: CAA को लेकर अपनी ही पार्टी पर भड़के भाजपा नेता कहा- भीमराव अंबेडकर के संविधान को फाड़कर फिंकवा दो या फिर भाजपा का…

भोपाल: नागरिका संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के खिलाफ देशभर के कई राज्यों लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है। CAA के खिलाफ आम जन से लेकर विपक्ष तक इसका पुरजोर विरोध कर रही है। अब इसी कड़ी में भाजपा नेता भी शामिल हो गए है। मध्यप्रदेश के मैहर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने संशोधित नागरिकता कानून को लेकर एक बयान दिया है।

दरअसल, संशोधित नागरिकता कानून का विरोध करते हुए भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा की सीएए से देश में गृहयुद्ध जैसी स्थितियां बन रही हैं। जो देश के लिए घातक है। उन्होंने अपनी ही पार्टी पर सीएए लागू कर देश को धर्म के आधार पर बांटने का आरोप लगाया। उन्होंने तंज कसा कि भाजपा को भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखित संविधान को फाड़कर फेंक देना चाहिए और एक अलग से संविधान बनाकर उसके तहत देश को चलाना चाहिए।

लोग राशन कार्ड बनाने तक में सक्षम नहीं हैं, तो वह अपनी नागरिकता कैसे सिद्ध करेगा

संवाददाताओं से बात करते हुए त्रिपाठी ने कहा की, जब मैंने महसूस किया तो मैंने CAA का विरोध किया। ये मेरे विधानसभा क्षेत्र मैहर की ही नहीं, हर जगह की स्थिति है। आज हमारे हिन्दुस्तान के हर गली-मोहल्ले में गृहयुद्ध जैसी स्थितियां बनी हुई हैं। ये देश के लिए घातक है।

वही जब उनसे सवाल किया गया कि क्या वह भाजपा छोड़ कांग्रेस में जाने का विचार कर रहे हैं, तो इस पर उन्होंने कहा, मेरा कांग्रेस में जाने का कोई मन नहीं है। न भाजपा से अलग होने का यह मेरा अपना व्यक्तिगत विचार है। जो मैंने अनुभव किया, महसूस किया और देखा है।

विधायक नारायण त्रिपाठी ने कहा, सीएए से केवल भाजपा के वोट बैंक को फायदा हो रहा है। देश को और कोई फायदा नहीं है। उन्होंने उदाहरण देकर अपनी बात समझाया कि मैहर के खरोंधी गांव के यज्ञनारायण शुक्ला परिवार कहना है कि सीएए आने के बाद स्थिति ऐसी बिगड़ गई है कि पड़ोसी भठिया गांव के जो मुसलमान पहले उन्हें उनके गांव जाने पर खड़े होकर पंडितजी पायलागू कहते थे अब वे महीना-दो महीना से हमें देखते भी नहीं हैं।

त्रिपाठी ने कहा, सीएए तो आप भाजपा ले आये। या तो भीमराव अंबेडकर के संविधान को फाड़कर फिंकवा दो या फिर भाजपा का एक अलग से संविधान बन जाये और उस संविधान के तहत देश को चलाएं। अगर आप अंबेडकर के संविधान को मानते हैं तो भीमराव अंबेडकर ने कहा है कि यहां सभी धर्म के लोग रहेंगे तभी हिन्दुस्तान चलेगा।

उन्होंने कहा, आप भाजपा एकता एवं अखंडता की बात करते हैं और आग लगवाने का काम करते हैं।’ राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) पर त्रिपाठी ने कहा कि जब गांव का आदमी राशन कार्ड बनाने तक में सक्षम नहीं हैं, तो वह अपनी नागरिकता कैसे सिद्ध करेगा।

Leave a Comment