भाजपा नेता की बहन की ह’त्या के बाद भड़की हिं’सा, पार्टी ने तृणमूल नेता पर दु’ष्क’र्म के बाद लगाया…

पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर में रविवार को जिले के एक हिस्से में हिं’सा भड़’क उठी. इसके बाद से ही तनाव की स्थिति बनी हुई हैं. बताया जा रहा है कि एक लड़की का श’व मिलने के बाद करीब 200 लोगों के एक समूह ने एनएच31 को ब्लॉक करके दं’गे ब’जी की. प्रदर्शनकारी द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की जा रही थी. इस दौरान तीन सरकारी बसों और तीन पुलिस वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक रविवार की सुबह किशोरी सिलीगुड़ी के पास सोनापुर गांव में स्थित अपने घर से बाहर शौचालय जाने के लिए गई थी. इसी दौरान कथित रूप से उसे अगवा कर लिया गया. जिसके कुछ ही घंटों बाद वह मृ;त अवस्था में पाई गई.

ग्रामीणों का आरोप है कि उसकी ह’त्या करने से पहले किशोरी के साथ ब’लात्का’र किया गया था. जिसके बाद बड़े जनसमूह ने राष्ट्रीय मार्ग को बंद करके आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे.

अधिकारियों ने जानकारी देते हुए कहा कि भी’ड़ को शांत कराने और हटाने की कोशिश पुलिस कर्मी कर रहे थे तभी उत्तर बंगाल राज्य परिवहन निगम की तीन बसों को भी’ड़ द्वार आग के हवाले कर दिया गया. इसके साथ ही पुलिस की तीन गाड़ियों को भी फूंक दिया गया.

अधिकारियों के अनुसार अवरोध और गु’स्सा’ए प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए रैपिड एक्शन बल समेत अतिरिक्त बल घटनास्थल पर बुलाया गया, तब कहीं हालात काबू में आए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सूबे की विपक्षी पार्टी बीजेपी का कहना है कि लड़की स्थानीय बीजेपी नेता की बहन हैं. बीजेपी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि सत्तारूढ़ टीएससी नेता ने किशोरी के साथ रे’प करने के बाद उसकी ह’त्या कर दी हैं. जबकि राज्य की सत्ताधारी पार्टी टीएमसी ने आरोपों को ख़ारिज कर दिया हैं.

सत्ताधारी पार्टी ने बीजेपी के लोगों के एक वर्ग को उक’साने और शांति व्यवस्था को भं’ग करने का प्रयास करने के आरोप लगाए हैं. टीएमसी ने कहा कि पुलिस के अनुसार मौ’त की वजह जहर का असर बताया गया हैं और कहा कि पुलिस को शारीरिक या यौ’न हमले के कोई संकेत नहीं मिले हैं. बता दें कि अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई हैं.

साभार- नवभारत टाइम्स