VIDEO: बिहार के लाला से छीना दिल्ली का निवाला, किस हैसियत से जाऊं शाहीन बाग: मनोज तिवारी

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद हार का ठीकरा फोड़ने के लिए कई नाम चर्चा में हैं। लेकिन इस लिस्ट में एक अहम नाम दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का जी हाँ दिल्ली विधानसभा चुनाव में 48 सीटों पर जीत का दावा करने वाले दिल्ली के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आम आदमी पार्टी से मिली करारी हार के बाद कहा है कि अगर चेहरे के साथ मैदान में उतरते तो नतीजे कुछ और होते।

आपको बता दें मनोज तिवारी ने दिल्ली चुनाव के एग्ज़िट पोल में आम आदमी पार्टी की जीत के अनुमान को ख़ारिज किया था. 8 फ़रवरी को मनोज ने ट्वीट कर कहा था की ये सभी एग्ज़िट पोल फ़ेल होंगे. मेरा ये ट्वीट संभालकर रखिएगा. बीजेपी दिल्ली में 48 सीट लेकर सरकार बनाने जा रही है। कृपया ईवीएम को दोष देने का अभी से बहाना ना खोजें।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने गुरुवार को एबीपी न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में चुनाव में मिली हार पर खुलकर चर्चा की। और इंटरव्यू के दौरान उनसे पूछा गया कि दिल्ली चुनावी नतीजों से आपको करंट लगा क्या? इसपर मनोज तिवारी ने कहा कि करंट तो लगा ही है।

इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने कहा की मुझे लगता है कि हमें अपना मैनिफेस्टो थोड़ा पहले लाना चाहिए था, ताकि समय रहते लोगों तक वह पंहुचा जाता। लेकिन जो भी लोग शाहीन बाग को लेकर भ्रम फैला रहे हैं उन्हें करंट लगने की बात कही गई थी। न की वहां के प्रदर्शनकरियो को लेकर। हलाकि प्रधानमंत्री भी इस बात को साफ कर चुके हैं लेकिन शाहीन बाग के लोग इसपर जनता के बीच भ्रम फैला रहे हैं।

 

वहीं जब मनोज तिवारी से पूछा गया कि वह शाहीन बाग क्यों नहीं जा रहे हैं तो उन्होंने कहा कि मैं किस हैसियत से शाहीन बाग जाऊं। वहां मुझपर ह’मला भी हो सकता है इस वजह से मैं वहां नहीं जा रहा है।

हलाकि इंटरव्यू के दौरान मनोज तिवारी ने कहा की शाहीन बाग को हम आज भी सही नहीं मानते और न ही कल मानेंगे।गौरतलब है की दिल्ली चुनाव में शाहीन बाग को बीजेपी ने मुद्दा बनाया था।और इस दौरान अमित शाह ने कहा था ईवीएम का बटन इतनी जोर से दबाना कि वोट यहां मिले और करंट शाहीन बाग में लगे।

Leave a Comment