पंजाब के बाद मिजोरम निकाय चुनाव में भी भाजपा का सूपड़ा साफ़, लोग बोले अच्छे दिन आने वाले हैं

पंजाब नगर निकाय चुनाव के बाद अब मिजोरम निकाय चुनाव में भाजपा का खाता भी नहीं खुला, पंजाब के बाद यह दूसरा झटका

पिछले तीन महीनों से देश में चले आ रहे किसान आंदोलन और अब पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती हुई कीमतों का असर भारतीय जनता पार्टी के चुनाव परिणामों पर साफ तौर से दिखाई दे रहा है.हाल ही में पंजाब में नगर निकाय चुनावों के परिणाम घोषित हुए जिसमें पूरी तरह से कांग्रेस पार्टी का दबदबा रहा. और भारतीय जनता पार्टी पंजाब में बुरी तरह से असफल हुई कहीं-कहीं तो भारतीय जनता पार्टी खाता भी नहीं खोल सकी।

वही अब मिजोरम में हुए नगर निकाय चुनावों के परिणाम घोषित हुए हैं जो कि भारतीय जनता पार्टी के लिए बेहद निराशाजनक साबित हुए हैं। चुनाव नतीजों को लेकर लोगों का कहना है कि देश में चल रहे किसान आंदोलन और पेट्रोल-डीजल की बढ़ती हुई कीमतें भारतीय जनता पार्टी के चुनाव परिणामों पर सीधा असर डाल रही हैं।

पंजाब के बाद और मिजोरम में बीजेपी को मायूसी

बता दें बीते मंगलवार मिजोरम में नगर निकाय चुनाव हुए जिसमें कुल 2 लाख 20,110 वोटों में से 64.19 फीसदी वोट पड़े। इस बार मिजोरम नगर निकाय चुनाव में जहां कांग्रेस पार्टी ने19 उम्मीदवार मैदान में उतारे तो भारतीय जनता पार्टी ने 9 सीटों पर चुनाव लड़ा था। लेकिन चुनाव परिणाम काफी चौंकाने वाले रहे।

हाल में आए मिजोरम नगर निकाय चुनाव में सत्तारूढ़ मिजो नेशनल फ्रंट ने 19 में से 11 सीटें जीतकर आइजोल नगर निगम सीट पर कब्जा कर लिया। तो वहीं मुख्य विपक्षी पार्टी जोरम पीपुल्स मूवमेंट ने 6 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं दो मौजूदा पार्षदों सहित 19 उम्मीदवारों को मैदान में उतारने वाली कांग्रेस पार्टी 2 सीटें जीत सकीं।

लेकिन मिजोरम नगर निकाय चुनाव में भाजपा के हाथ एक भी सीट नहीं आई। ऐसे में अब पंजाब नगर निकाय चुनाव के बाद मिजोरम में भी भारतीय जनता पार्टी को मायूसी ही हाथ लगी है।

मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने जीत पर जताई खुशी

इधर मुख्यमंत्री और मिजो नेशनल फ्रंट अध्यक्ष जोरमथंगा ने मिजोरम नगर निकाय चुनाव में जीत पर खुशी जताई है तथा साथ ही मिजो नेशनल फ्रंट को आइजोल नगर निगम में सत्ता में बनाए रखने के लिए मतदान करने पर लोगों का आभार जताया।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं ईमानदारी से और तहे दिल से मिजोरम के लोगों को मिजोरम नेशनल फ्रंट पर भरोसा करने के लिए पर्याप्त धन्यवाद नहीं दे सकता कि वह आइजोल नगर निगम सिविल पोल 2021 में विभिन्न विकास लक्ष्यों के लिए एक मशाल वाहक है। मिजोरम सरकार आपनी पूरी कोशिश करेगी।