चुनाव से पहले भाजपा की सहयोगी पार्टी ने कांग्रेस से मिलाया हाथ, लोग बोले ज़ोर का झटका धीरे से लगा

असम (Assam) में 27 मार्च से विधानसभा चुनाव (Assembly elections) होने हैं, जिनके नतीजे आगामी 2 मई को आएंगे.

गुवाहाटी: असम में भाजपा की सहयोगी पार्टी विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हो गया है। असम में अगले माह होने वाले चुनावों से पहले भाजपा के सहयोगी बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (बीपीएफ) ने ऐलान किया कि वह सत्तारूढ़ बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को छोड़ रहा है और विपक्षी मोर्चे में शामिल हो रहा है।

दरअसल, रविवार को बीपीएफ़ की नेता प्रमिला रानी ब्रह्मा ने बीजेपी पर कई आरोप लगाए और गठबंधन से अलग होकर कांग्रेस गठबंधन में शामिल हो गया है। बीपीएफ़ असम में 2016 के विधानसभा चुनाव के पहले से ही बीजेपी के साथ था. असम में कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन को यह बड़ा फायदा मिला है जबकि भाजपा को इससे झटका लगा है।

असम में 27 मार्च से विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

बीपीएफ के अध्यक्ष हागरामा मोहिलारी ने फेसबुक पर एक बयान में कहा है, शांति, एकता और विकास के लिए काम करना और असम में भ्रष्टाचार से मुक्त एक स्थिर सरकार लाने के लिए बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट ने महाजथ के साथ हाथ मिलाने का फैसला किया है।

बीपीएफ अब बीजेपी के साथ दोस्ती या गठबंधन नहीं बनाए रखेगा। आगामी असम विधानसभा चुनाव में बीपीएफ महाजथ के साथ हाथ मिलाकर काम करेगा। आपको बता दें कि बीपीएफ ने पिछले विधानसभा चुनाव में राज्य की 126 सीटों में से 12 सीटें जीती थीं और भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हो गया था।

असम विधानसभा चुनाव के नतीजे आगामी 2 मई को आएंगे.

गौरतलब है कि पिछले साल के आखिर में बीजेपी को बीपीएफ ने धू’ल चटा दी और बहुमत हासिल करने व असम के बोडो बहुल क्षेत्रों में स्वशासी निकाय, बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल (बीटीसी) पर काबिज होने के लिए एक नया साथी चुन लिया।

वही राज्य में सर्बानंद सोनोवाल के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार में तीन मंत्रियों वाली बीपीएफ दिसंबर में बीटीसी चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी, जिसने 40 सदस्यीय निकाय में 17 सीटें जीतीं।

बीजेपी नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हालांकि 12 सीटें जीतने के लिए यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल को बधाई दी और अपने ट्वीट में पार्टी को सहयोगी करार दिया। सोनोवाल ने ऐलान किया कि यूपीपीएल प्रमुख प्रमोद बोरो बीटीसी में नए मुख्य कार्यकारी सदस्य सीईएम होंगे।

पुणे (महाराष्ट्र) की रहने वाली 'बुशरा त्यागी' पिछले 5 वर्षों से एक Freelancer न्यूज़ लेखक (Writer) के तौर पर कार्य कर रही हैं। 16 साल की उम्र से ही इन्होंने शायरी, कहानियाँ, कविताएँ और आर्टिकल लिखना शुरू कर दिया था।