बॉलीवुड की इन एक्ट्रेस ने किया बड़ा खुलासा, काम देने के बहाने कैसे ख़ास कोड में बात करते थे

दोस्तों, जब आप  कोई फिल्म देखते हैं तो उस फिल्म में काम करने वालों की ज़िन्दगी आपको ऐश और मौज से भरी दिखाई देती होगी. लेकिन यह पूरा सच नहीं है, बॉलीवुड की काली दुनिया का सच आखिर किससे छिपा है. खासतौर पर जो अभिनेत्रियाँ और दूसरी महिला कर्मियों को कभी न कभी किसी न किसी के साथ ठीक अनुभव नहीं रहा.

हालांकि यह भी पूरी तरह से सच नहीं है कि बॉलीवुड में काम करने वाला हर शख्स इसी तरह से दागदार है. लेकिन कभी-कभी हमें बॉलीवुड से ऐसी बातें बाहर निकल कर सुनाई देती हैं, जिसे आज के समय में मानवता शर्मसार होती दिखाई देती है. बॉलीवुड में काम दिलाने को लेकर कई एक्ट्रेस अपने शुरुआती दिनों को लेकर खुलासे कर चुकी हैं.

Sharlin Chopra

अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा ने खोली फिल्म निर्माताओं की पोल

शुरू-शुरू में उन्हें लुभाने के लिए उन्हें रिझाने के लिए किस तरह से उनके साथ एक ख़ास कोड में बातचीत की जाती थी, आइए आपको भी बताते हैं कुछ वहां की बातें. बॉलीवुड की हसीनाओं की आपबीती, जो अपने शुरुआती दिनों में किस दौर से गुजरी हैं.

बॉलीवुड में काम दिलाने के बहाने, लोग उनको कैसे एक ख़ास कोड के ज़रिये बात करते थे. आइये जानते हैं इन एक्ट्रेस के बारे में जिनका अनुभव बॉलीवुड में ठीक नहीं रहा.

फ़िल्मी दुनिया में, अभिनेत्री शर्लिन चोपड़ा के बारे में तो आप भली-भांति परिचित होंगे. फिल्म जगत में शर्लिन चोपड़ा एक जाना माना नाम है, वह अपने बोल्ड अंदाज को लेकर इंस्टाग्राम पर और सोशल मीडिया पर खूब सुर्खियां बटोरती हैं. हाल ही में उन्होंने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि उनके शुरुआती दिनों के दौर में एक नहीं, कई लोगों ने काम दिलाने के बहाने कैसे उनसे एक खास शब्द का प्रयोग करके रात को घर पर आने की बात कही.

Bollywood Actress Sharlin Chopra

शायद आपको सुनने में थोडा अजीब लगे, लेकिन यह बॉलीवुड की दुनिया का एक ख़ास कोड है, जिसका सीधा मतलब समझौते से ही है. करियर की शुरुआत के दौरान उन्होंने बॉलीवुड में काफी कुछ सहन किया है. बॉलीवुड में ‘कास्टिंग का_उच’ नाम के शब्द को तो आप जानते ही होंगे, तो आपको बता दें कि यह कोड उसी का दूसरा नाम है.

अगर किसी ने आपको ‘डिनर’ पर बुलाया है, तो समझ लो उसका बिस्तर गर्म करना है

बॉलीवुड में रात का ‘डिनर’ शब्द है, जिसका सीधा सीधा मतलब, इस कास्टिंग काउ_च को परिभाषित करता है. अगर आपको एक फिल्म मेकर ने, दीनार के लिए आधी रात को अपने घर पर बुलाया है. तो उसका सीधा मतलब समझौते से ही है. अगर आपको काम चाहिए, तो उसके लिए आपको उसका बिस्त’र गर्म करना होगा, जिसके बदले में आपको काम मिलेगा.

शर्लिन बताती हैं, कि जब इस फ़िल्मी दुनिया की शुरुआत में, मैं लोगों से मिलती थी तब फिल्म निर्माताओं से काम के लिए अप्रोच करती थी. तो मुझे लगता था कि वह मेरा टैलेंट देखने के लिए मुझे बुलाते थे, उनका जवाब होता था ‘अच्छा ठीक है तो आप अपने पोर्टफोलियो के साथ रात में घर पे डिनर पर मिलें’, तब वहां देखा जाएगा क्या करना है.

Shrline chopda Bollywood Heroin

तब मुझे ऐसा लगता था कि इस दीनार का मतलब वही है जो हम बचपन से सुनते ए हैं, कि रात के खाने को ही डिनर कहा जाता है. दरअसल यह डिनर बॉलीवुड की दुनिया का असली मतलब कंप्रोमाइज है. जब मेरे साथ चार पांच बार ऐसा हुआ, तब मैं समझी कि वाकई में इस डिनर की असली हकीकत क्या है.

बॉलीवुड में अधिकतर अभिनेत्रियों के साथ हुआ है ऐसा

डिनर का का मतलब यह है कि ‘मेरे पास आ जाओ बेबी’ अपने आपको मेरी बाँहों के हवाले कर दो. कुछ दिन में मुझे यह अच्छी तरह से समझ आ गया कि वाकई में यह क्या चीज है. उसके बाद मेरा आना-जाना कई और लोगों के पास भी हुआ. जिनमें से कुछ ने मुझसे कहा कि रात को डिनर पर मिलो फिर वही तय किया जाएगा कि क्या करना है.

तब मैंने उनसे साफ कह दिया कि मैं डिनर नहीं करती, मेरी डाइटिंग चल रही है. इसके बाद तो वह हैरान रह गई कि जब मैंने उनको डिनर का मना किया तो, वह बोले कि चलो ब्रेकफास्ट या लंच पर ही आ जाओ. इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपको किस टाइम आना है.

आपको बता दें, इससे पहले भी दुनियाभर समेत बॉलीवुड में भी ‘मी-टू’ का दौर चला था. जहां दुनियाभर समेत हॉलीवुड और बॉलीवुड की अभिनेत्री और वहां पर काम करने वाली काफी युवतियों ने अपने पुराने समय के अनुभव लोगों के साथ शेयर किए थे, कि किस तरह से लोग काम दिलाने के बहाने आपके साथ या दूसरी महिलाओं के साथ कैसा व्यवहार रखने का सोचते हैं.