लॉकडाउन में भाजपा के दिग्गज नेता के घर से भारी मात्रा में श’राब बरामद, पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोरोना संक्रमण के चलते पूरे देश में लाॅकडाउन होने के बाद सरकार ने शराब की दुकानों को बंद करने का आदेश दिया है, तो वहीं बीजेपी नेता ही शासनादेश का उल्लंघन कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश के जौनपुर में पुलिस और आबकारी विभाग की टीम ने पंजाबी मार्केट में स्थित एक भाजपा नेता की दुकान पर छापेमारी की। इस दौरान भारी मात्रा में अवैध श’राब बरामद हुई।

मिली जानकारी के अनुसार जौनपुर के थाना कोतवाली क्षेत्र स्थित केसरी बजार पंजाबी मार्केट से रविवार को पुलिस एवं आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने श’राब बेच रहे बीजेपी नेता मनीष सेठी को पत्नी और पुत्र के साथ गिरफ्तार किया है। इसके साथ भारी मात्रा में श’राब बरामद हुई है। अब बीजेपी के कई बड़े नेता शराब बेचते पकड़े गए पार्टी नेता को बचाने में जी जान से जुटे हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए लाॅकडाउन होने के साथ ही शासन ने शराब की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा रखा है। इसके बाद भी बीजेपी नेता मनीष सेठी श’राब बेचने का धं’धा कर रहा था। इसकी शिकायत लगातार स्थानीय व्यापारी कोतवाली पुलिस एवं अबकारी विभाग में कर रहे थे।

लेकिन तमाम शिकायत होने के बाबजूद भी बीजेपी नेता को पुलिस पकड़ने की साहस नहीं जुटा पा रही थी। जब कोई कारर्वाई नहीं हुई तो स्थानीय व्यापरियों ने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राम प्रकाश के पास श’राब बेचे जाने की शिकायत की। एडीएम ने इसे गम्भीरता से लेते हुए अबकारी अधिकारी एवं कोतवाली पुलिस को सख्त आदेश दिया कि किसी भी दशा में यदि शराब बेची जा रही है तो कार्रवाई की जाए।

इसके बाद अबकारी अधिकारी एवं कोतवाली पुलिस की संयुक्त टीम ने केसरी बाजर के पास पंजाबी मार्केट में मनीष सेठी के घर पर छा’पा मा’रा तो वहां से शराब बेचते हुए खुद मनीष सेठी एवं उनकी पत्नी छाया सेठी और बेटा आनन्द सेठी को गिरफ्तार कर लिया और तीन पेटी अंग्रेजी श’राब बरामद करते हुए माल सहित सभी को थाने ले गये।

बता दें मनीष सेठी बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा का जिला महामंत्री है। बीजेपी नेता के गिरफ्तार होते ही उसे बचाने की कवायद में कई पार्टी नेता लग गए हैं। एक खबर के अनुसार जिस स्थान पर अंग्रेजी श’राब बेची जा रही थी उसके नीचे गुरु सिंह सभा के बैनर तले लंगर चलाया जा रहा था ताकि सरकारी तंत्र को शक न हो सके।

वही स्थानीय व्यापारीयों की माने तो मनीष सेठी को पुलिस का संरक्षण प्राप्त था। जो भी हो इस बीजेपी नेता द्वारा शासन के आदेश का उल्लंघन करते हुए लाॅकडाउन अवधि में श’राब बेचने का अपरा’ध किया जाता रहा है।

Source: hindi.oneindia

Leave a Comment