देसी-विदेशी शोरूम से भरे 'शाहीन बाग' में प्रदर्शन के कारण बिजनेस पड़ा ठप्प, शोरूम मालिकों ने लिया बड़ा फैसला

देसी-विदेशी शोरूम से भरे ‘शाहीन बाग’ में प्रदर्शन के कारण बिजनेस पड़ा ठप्प, शोरूम मालिकों ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्लीः नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) को लेकर दिल्ली के शाहिन बाग में पिछले एक महीने से विरोध प्रदर्शन हो रहा है। और इस विरोध प्रदर्शन के चलते इस इलाके के देसी-विदेशी शोरूम और दुकाने ज्यादातर बंद ही है। बता दें दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाली सड़क के किनारे स्थित दिल्ली के मशहूर शाहिन बाग (Shaheen Bagh) में राष्ट्रीय, बहुराष्ट्रीय कंपनियों की हजारों दुकाने और शोरूम हैं।

लेकिन शाहिन बाग में पिछले एक महीने से नागरिकता संशोधन कानून को लेकर चल रहे विरोध के कारण ये सारी दुकाने व शोरूम बंद है। जिससे इन दुकानदारों को लाखों का नुकसान हो रहा है। वही जानकारों के मुताबिक यह कहा जा रहा है की अगर ये आंदोलन आगे भी ऐसे हीं चलता रहा तो इन लोगों का क्या होगा।

Delhi Shaheen Bagh Showroom

शाहिन बाग के दुकानदारों से एक महीने का किराया नहीं लिया जायेगा

आपको बता दें जहां पर ये विरोध प्रदर्शन हो रहा है उसके ठीक बगल में एक बूट नाम की जुते कि दुकान है। जिसके मालिक बताते हैं कि मेरे यहां नौ कर्मचारी है। इन सबको में कहां से पैसा दूंगा। वहीं फलाईंग मशीन शो रूम के स्टोर मैनेजर कहते हैं कि इस तरिके से ये प्रदर्शन अगर आगे भी जारी रहेगा तो हमें परेशानी होगी।

Delhi Shaheen Bagh

वही स्टोर के मैनेजर कहते है की 20 से 25 लाख की हमारी महीने की बिक्री है। वहीं पास में हीं स्थित डोनियर नाम के जूते है शोरूम है जिसके मालिक मोहम्मद शाजिब कहते हैं कि आंदोलन भी जरूरी है। लेकिन उसके कारण रोजगार बंद पड़ा हुआ है। ऐसे हीं अगर ये जारी रहा तो हमें अपने मजदूरों को छुट्टी पर भेजना पड़ेगा क्योकि दूसरा कोई उपाय नहीं है।

बता दें कि इन प्रदर्शन के कारण दुकानदारों को हो रहे नुकसान से दुकान और शोरूम मालिकों द्वारा थोड़ी राहत दी गई है। वहां के मकान मालिकों ने ये ऐलान किया है कि वह दुकानदारों से एक महीने का किराया नहीं लेंगे।

Shaheen Bagh

इन मकान मालिकों में रिजवान अहमद खान जिनके बिल्डिंग में छह शोरूम है, सोनू वारसी जिनके बिल्डिंग में चार दुकानें है, डॉ. नासिर जिनके बिल्डिंग में दो दुकानें हैं। ऐसे कई मालिकों ने इस महीने का किराया नहीं लेने का फैसला किया है।

Leave a Comment