लद्दाख सीमा पर हजारों सैनिकों ने किया युद्ध अभ्यास, चीनी मीडिया ने जारी किया वीडियो

भारत और चीन के बीच जारी गतिरोध लगातार तेज होता जा रहा हैं. चीन भारतीय क्षेत्र लद्दाख में सीमा विस्तार कर रहे हैं. सीमा पर बने इस तनाव को खत्म करने के लिए शनिवार को ही कोर कमांडर लेवल की बातचीत दोनों देशों के बीच हुई थी. लेकिन इसके बावजूद भी चीन अपना दोहरा चरित्र दिखाने से बाज नहीं आ रहा हैं. एक तरफ भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच बातचीत हुई तो वहीँ दूसरी तरफ इसके एक दिन बाद ही चीनी सेना ने प्रोपगेंडा वीडियो जारी किया हैं.

टाइम्स नाउ कि खबर के अनुसार चीनी मीडिया द्वारा शेयर किये गए इस वीडियो में हजारों चीनों सैनिकों को भारत के बॉर्डर पर सैन्य अभ्यास करते हुए दिखा जा रहा हैं. चीन की सरकारी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से यह वीडियो शेयर किया हैं.

वीडियो में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवान एयरबोर्न ब्रिगेड के साथ सैन्य अभ्यास करते नजर आ रहे हैं. ग्लोबल टाइम्स के अनुसार सीमा पर बने तनाव के बीच ऊंचाई पर स्थित उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में हजारों पैराट्रूपर्स और बख्तरबंद वाहनों की मौजूदगी में बड़े पैमाने पर युद्धाभ्यास किया गया.

इस दौरान भारत से सटी हुई सीमा पर युद्ध के के दौरान तेजी से भारी हथियार और सैन्य साजोसामान पहुंचाने की तैयारियों को भी परखा गया. इसके साथ ही ग्लोबल टाइम्स ने दावा किया कि यह पूरी प्रक्रिया सिर्फ चंद घंटों में पूरी कर ली गई.

वहीं चीनी विशेषज्ञों ने इसे लेकर कहा कि पूरी प्रक्रिया को महज कुछ ही घंटों में पूरा कर लिया गया हैं. इस दौरान आवश्यकता पड़ने पर सीमा सुरक्षा को जल्द से जल्द मजबूत किये जाने की चीन की क्षमता का प्रदर्शन किया गया.

वहीं रविवार को भारतीय विदेश मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए कहा कि भारत और चीन द्विपक्षीय समझौतों तथा दोनों देशों के प्रमुखों द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों के अनुरूप सीमा मसले के शांतिपूर्ण समाधान के लिए सैन्य तथा राजनयिक वार्ता जारी रखने पर सहमत बनाई हैं.

पूर्वी लद्दाख गतिरोध पर विदेश मंत्रालय ने दोनों देशों की उच्चस्तरीय सैन्य कमांडर वार्ता के नतीजों की जानकारी साझा करते हुए यह बात कही. शनिवार को दोनों देशों की सेनाओं के सैन्य कमांडरों ने उच्च हिमालयी क्षेत्र में पिछले महीने भर से बने गतिरोध को सुलझाने की कोशिशों के तहत पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के चीन के भूभाग की तरफ माल्डो में विस्तृत बातचीत की हैं.साभार- टाइम्स नाउ