CAA विरोध को लेकर सरकार सख्त, मंत्रालय ने टीवी चैनलों को कड़े नतीजे भुगतने की दी चेतावनी

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के खिलाफ भारत के अलग-अलग शहरों में हिं’सक प्रदर्शन जारी है। और इस विरोध प्रदर्शन के दौरान कई हिं’सक घट’नाएं भी सामने आ रही हैं। इसी बीच सरकार ने शुक्रवार को देश भर के न्यूज चैनलों के लिए एक एडवाइजरी जारी किया है। इस एडवाइजरी में न्यूज चैनलों को ऐसे किसी भी कंटेंट के प्रसारण पर रोक लगाने के कहा गया है।

दरअसल, बीते 10 दिनों पहले सरकार की तरफ से जारी की गई है यह इस तरह की दूसरी एडवाइजरी है। जिसको सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा जारी किया गया है। इससे पहले सरकार ने 11 दिसंबर को भी ऐसी ही एक एडवाइजरी जारी की थी। सरकार ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि ‘सभी न्यूज चैनल ऐसा कंटेंट को प्रतिबंधित करें, जो हिं’सा को बढ़ावा देता है।

आपको बता दें मंत्रालय के अंडर सेक्रेटरी एम राजेंद्रन के हवाले से शुक्रवार को जारी इस एडवाइजरी में कहा गया है, 11 दिसंबर को भी मंत्रालय ने इस संबंध में दिशा निर्देश जारी किए थे और कई टीवी चैनलों ने एडवाइजरी के निर्देशों की अनदेखी करते हुए ऐसे कंटेंट प्रसारित किए, जो कि प्रोग्राम कोड की भावना के अनुरूप नहीं थे।

वही मंत्रालय ने शुक्रवार को दूसरी एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि लिहाजा टीवी चैनल ऐसी कोई कवरेज न करें, जिससे कानून-व्यवस्था को चुनौती मिलने के साथ देश-विरोधी हरकतों को बढ़ावा मिलता हो। राष्ट्र की संप्रभुता पर असर डालने वाले कंटेंट भी दिखाने से परहेज करें।

बता दें कि नागरिकता कानून के विरोध में देश भर के कई हिस्सों में हिं’सा का दौर जारी है। हिं’सा की शुरूआत दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई। इसके बाद दिल्ली के सीलमपुर में हिं’सा देखने को मिली। फिर हिं’सा की यह घट’नाएं गुजरात सहित कई इलाकों में फैल गई।

Leave a Comment