VIDEO: CAA के समर्थन में धारा 144 के बावजूद हंगामा कर रहे बीजेपी नेता को महिला कलेक्टर ने जड़ा थप्पड़

Bhopal भोपाल: मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में रविवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के समर्थन में रैली निकाल रहे भाजपा कार्यकर्ताओ की कलेक्टर से झड़प हो गई। दरअसल (CAA) के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाल रहे बीजेपी के कार्यकर्ताओं को कलेक्टर निधि निवेदिता ने धारा 144 लागू होने के कारण प्रदर्शन करने से रोक रही थी लेकिन वे नहीं माने।

आपको बता दें NDTV की खबर के अनुसार, भाजपा कार्यकर्ता कलेक्टर निधि निवेदिता (Nidhi Nivedita) से मिलने और उन्हें ज्ञापन देने कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। इससे नाराज होकर कलेक्टर निधि निवेदिता भी’ड़ के बीच आ गई और सबसे धारा 144 का हवाला देते हुए चले जाने के लिए कहा.

पुलिस ने प्रदर्शनकारी भाजपा कार्यकर्ताओं पर किया लाठीचार्ज

उस दौरान ही भाजपा के एक कार्यकर्ता ने कलेक्टर के सामने ही भारत माता की जय के नारे लगाने लगता है। इससे गुस्से में आई कलेक्टर ने उसे जोरदार तमाचा जड़ दिया।

इस दौरान हालात बिगड़ने पर पुलिस के साथ-साथ कलेक्टर भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने के लिए काफी संघर्ष करती हुईं नजर आईं पुलिस ने ला’ठीचा’र्ज किया जिसमें दो कार्यकर्ता घायल भी हो गए.

बता दें राजगढ़ जिला मुख्यालय पर नागरिकता संशोधित कानून के समर्थन में बीजेपी के कार्यक्रम को धारा 144 लागू होने के चलते अनुमति नहीं दी गई थी।

आपको बता दें राजगढ़ जिले में शनिवार से धारा 144 लगी हुई है. इसके बावजूद भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सीएए और एनआरसी के समर्थन में प्रदर्शन करने पर आमादा थे.

अनुमति न होने के पर भी बड़ी तादाद में बीजेपी कार्यकर्ताओं के एकत्रित होने की वजह से हंगामा शुरू हो गया.

बीजेपी विधायक सहित कई कार्यकर्ताओं को पर मामला दर्ज

रैली को रोकने का प्रयास कर रहीं महिला डिप्टी कलेक्टर की किसी ने चोटी खींची। इतना ही नहीं भी’ड़ में से किसी ने महिला डिप्टी कलेक्टर को लात भी मा’री। घ’टना का लाइव वीडियो कैमरे में कैद हो गया।

वही पुलिस ने हंगामा करने वाले 8, 10 बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है। हलाकि कई नामजद आरोपी फरार हैं. जिनमे से एक बीजेपी का पूर्व विधायक भी है। घ’टनास्थल के वीडियो फुटेज देखे जा रहे हैं.

आपको बता दें कलेक्टर ने हालात को शांत बताते हुए कानून हाथ में लेने वालों पर कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

भीड़ को भड़काने के मामले में बीजेपी के एक पूर्व विधायक पर भी कार्रवाई की जा रही है वही इस मामले पर मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दोनों महिला अधिकारियों द्वारा सीएए के समर्थकों को पी’टे जाने पर कहा कि आज का दिन लोकतंत्र के सबसे काले दिनों में गिना जाएगा।