कोरोना पर बड़ा खुलासा, हांगकांग से भागकर अमेरिका पहुंची विशेषज्ञ ने चीन को लेकर हैरान करने वाले खोले काई राज

कोरोना पर बड़ा खुलासा, हांगकांग से भागकर अमेरिका पहुंची विशेषज्ञ ने चीन को लेकर हैरान करने वाले खोले काई राज

वैश्विक महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस से अब तक दुनिया भर में करीब 1.20 करोड़ लोग सं’क्रमि’त हो चुके हैं और यह संख्या तेजी से बढ़ रही हैं. वहीं अब इस महामारी के चलते छह लाख लोग दुनिया छोड़कर चल बसे हैं. कोरोना के प्रसार की शुरुआत से ही चीन पर दुनियाभर में कोरोना की सच्चाई छिपाने के आरोप लगते रहे हैं. इसी बीच कोरोना के सच को लेकर एक बार फिर से चीन दुनिया के सामने बेनकाब हो गया हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक वायरोलॉजिस्ट हांगकांग से अपनी जा’न बचाकर अमेरिका पहुंचीं है और उन्होंने खुलासा किया है कि कोविड-19 को लेकर चीन को पहले से ही जानकारी थी. लेकिन चीन से काफी लेट दुनिया को इस वायरस के बारे में बताया था.

इसे लेकर चीनी सरकार में सर्वोच्च स्तर पर फैसले लिए गए और सभी जानकारी को छिपाया गया. शुक्रवार को फॉक्स न्यूज को दिए गए एक साक्षात्कार के दौरान हांग-कांग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वायरोलॉजी और इम्यूनोलॉजी में विशेषज्ञ के तौर पर नियुक्त लि-मेंग यान ने कोरोना से जुड़े कई बड़े खुलासे किये हैं.

उन्होंने बताया कि महामारी की शुरुआत में उनकी शोध को उनके सुपरवाइजर्स ने भी नजरअंदाज किया, जबकि उनका मानना है कि इस शोध से लोगों को जा’न बचाई जा सकती थी.

यान ने कहा कि वो दुनिया के पहले कुछ वैज्ञानिकों में से एक थीं जिन्होंने कोविड-19 पर अध्ययन किया. चीन सरकार ने अपने राज को छुपाने के लिए विदेशी और यहां तक की हांगकांग के वैज्ञानिकों को भी शोध में शामिल नहीं किया. उन्होंने इस वायरस को लेकर चीन के अपने कई साथियों से चर्चा की.

लेकिन उन लोगों के बात करने के तरीके में कुछ ही समय बाद बदलाव आने लगा, शायद उन पर चीन सरकार का दबाव था. यान ने कहा कि जो शोधकर्ता इस पर खुलकर बात कर रहे थे उन्हें चुप कर दिया गया. वुहान के डॉक्टरों और शोधकर्ताओं ने इस मुद्दे पर चुप्पी साध ली.

यान के अनुसार डॉक्टरों ने इस मुद्दे पर जानकारी मांगने और उन से इस बारे में बात करने से साफ मना कर दिया लेकिन उन्होंने यह कहा कि हमें मास्क लगा कर रखना जरुरी है और इसके बाद वुहान कोरोना वायरस का केंद्र बनकर उभरा. इसके बाद मानव से मानव सं’क्रम’ण तेजी से बढ़ने लगा.

साभार- अमर उजाला