भाजपा को दोहरा झटका, इधर युवा महिला नेता गिरफ्तार, उधर गृह मंत्री अमित शाह को कोर्ट का समन

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी (Abhishek Banerjee) के खिलाफ क'थि'त तौर पर टिप्पणी करने के मामले में बंगाल की एक अदालत ने जारी किया समन।

देश के किसी भी कोने में चुनाव हो और राजनेताओं के आरोप-प्रत्यारोप की खबरें सामने ना आए ऐसा हो नहीं सकता चुनावों के माहौल में कभी किसी नेता के बयान चर्चा में रहते हैं तो कभी कोई पुराना केस सुर्खियों में आ जाता है. ऐसे में जब पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं तो एक पुराना केस फिर से सामने आया है जिसमें कोर्ट ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को समन जारी कर एक व्यक्ति के रूप में हाजिर होने को कहा है।

पश्चिम बंगाल में एक विशेष अदालत ने मानहानि मुकदमे के संबंध में शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को समन जारी कर 22 फरवरी को व्यक्तिगत रूप से या किसी वकील के माध्यम से पेश होने को कहा है। लेकिन पहले वह केस जानते हैं जिसमें अदालत ने अमित शाह को समन जारी किया है।

2018 का है मामला

जनसत्ता की खबर के अनुसार, यह मामला 2018 का है, कोलकाता के मेयो रोड पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की रैली चल रही थी ऐसे में तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने दावा किया था कि बीजेपी ने रैली के दौरान उनके खिलाफ अ’पमा’नज’नक बयान दिए थे जिसके बाद उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ बंगाल की एक विशेष अदालत में मानहानि का मुकदमा दर्ज करवा दिया था। जिसके बाद अदालत ने शाह को अब समन जारी किया है।

22 फरवरी को कोर्ट में पेश हों अमित शाह

मामला भले ही 2018 का हो लेकिन आगामी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को देखते हुए यह काफी गं’भीर है। क्योंकि इस समय देश के सभी पार्टियां पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनावों की तैयारियों में जुटी हुई हैं।

ऐसे में कोर्ट ने गृह मंत्री अमित शाह को 22 फरवरी को किसी व्यक्ति के रूप में या किसी वकील के माध्यम से अदालत में पेश होने का निर्देश दिया है। बता दें बिधाननगर में यह अदालत सांसद और विधायकों से जुड़े मामलों की सुनवाई करती है। ऐसे में अदालत ने गृह मंत्री अमित शाह को 22 फरवरी सुबह 10 बजे कोर्ट में पेश होने का निर्देश दिया है।

इधर भाजपा का प्र’हार

अदालत द्वारा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को समन जारी किए जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने टीएमसी पर ती’खा ह’मला किया है भारतीय जनता पार्टी के लीगल सेल के संयोजक ब्रिजेश झा ने कहा कि “हम कोर्ट के कानूनी पक्ष को देख रहे हैं” पार्टी ने आगे कहा कि इस समय पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी अमित शाह के चुनाव प्रचार से असहज हो गई है इसलिए तरह तरह के ह#थकं’डे आजमा रही हैं।

इसके अलावा भाजपा के प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा कि टीएमसी भाजपा के नेताओं को प्रदेश में चुनाव प्रचार से रोकना चाहती है इसलिए वह तरह-तरह की कोशिशों में लगी है जिससे भाजपा के नेता प्रदेश में चुनाव प्रचार न कर पाएं।