VIDEO: दिल्ली पुलिस के कारनामे की फिर खुली पोल, जामिया के छात्रों को फं’साने की कोशिश नाकाम, छात्र के हाथ में प’त्थर नहीं बल्कि….

नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को दिल्ली पुलिस और छात्रों के बीच हुई झ’ड़प का एक और वीडियो सामने आया. जिसमें कई सुर’क्षाबल लाइब्रेरी में घु’सते है और वहां मौजूद छात्रों पर ला’ठियां बरसा’ने लगते है। यह वीडियो वायरल होने के बाद ति’लमिलाई दिल्ली पुलिस ने जामिया मिल्लिया के छात्रों को फं’साने के लिए एक और वीडियो जारी किया जिसमे दिल्ली पुलिस खुद ही फस्ती नज़ए आ रही है।

आपको बता दें जामिया मिलिया इस्लामिया में 15 दिसंबर को हुई ब’र्बरता से जुड़ा का एक वीडियो सामने आया जिसे जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी ने जारी किया है, जिसमें सुरक्षाबल लाइब्रेरी में मौजूद छात्रों पर डं’डे बरसा’ते नजर आ रहे हैं। लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद तिलमिलाई दिल्ली पुलिस ने जामिया के छात्रों को फं’साने के लिए एक और वीडियो जारी कर दिया था।

जिसमे दिल्ली पुलिस का दावा था की छात्र के हाथ में प’त्थर है. लेकिन पुलिस द्वारा जारी किया गया वीडियो झूठा साबित हुआ है। ऑल्ट न्यूज़ ने पड़ताल के दौरान जब वीडियो को स्लो करके देखा तो छात्र के हाथ में प’त्थर नहीं बल्कि पर्स था। ऑल्ट न्यूज़ द्वारा जारी तस्वीर में आप देख सकते हैं कि छात्र के हाथ में पर्स है। प’त्थर नहीं है।

वही दिल्ली पुलिस द्वारा जारी वीडियो को लेकर बीजेपी नेताओं सहित कई न्यूज़ चैनल्स ने भी जामिया के छात्रों पर सवाल खड़े किए थे। लेकिन, ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल के बाद न्यूज़ चैनल, बीजेपी और पुलिस स’न्नाटे में है। अब तक पुलिस या फिर बीजेपी की ओर से इस वीडियो को लेकर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

आपको बात दें जामिया कॉर्डिनेशन कमेटी की और से जारी किये गए वीडियो में जिसमें दिल्ली पुलिस जामिया लाइब्रेरी के अंदर तो’ड़फो’ड़ और छात्रों पर ला’ठीचा’र्ज करती हुई नजर आ रही है, वही वीडियो वायरल होने के बाद बौ’खलाई दिल्ली पुलिस इस मामले को दवाने के लिए एक वीडियो जारी किया लेकिन पुलिस खुद इसमें फ’स्ती नज़र आ रही है।

गैरतलब है की पुलिस ने अपने दावे में कहा था कि जामिया छात्र प’थरा’व कर रहे थे, ऐसे में वह ला’इब्रेरी में उन उपद्र’वी छात्रों को प’कड़ने के लिए गई थी। इस वीडियो से पहले पुलिस ने एक और झूठ बोला था। ओर दावा किया गया था कि वह जामिया कैंपस में घु’सी ही नहीं थी, लेकिन वीडियो के जरिए अब यह बात भी साबित हो चुकी है कि पुलिस जामिया कैंपस में घु’सी थी।

Leave a Comment