CAB के विरोध में प्रदर्शन और भी उग्र हुआ, अमित शाह ने अरुणाचल, मेघालय दौरा रद्द किया

नागरिकता संशोधन बिल को लेकर देशभर में लोगों के द्वारा भारी विरो’ध प्रदर्शन हो रहे हैं. जिसमे सबसे ज्यादा बंगाल मेघालय जैसे राज्यों में यह विरोध प्रदर्शन अपनी चरम सीमा पर हैं. अभी हाल ही में त्रिपुरा में भी प्रदर्शन उग्र होने के बाद 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया था. अब खबर यह आ रही है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह मेघालय और अरुणाचल प्रदेश दौरे पर जाने वाले थे, जिसको रद्द कर दिया गया है.

अमित शाह द्वारा इस दौरे को रद्द किस वजह से किया गया है अभी इस बात का खुलासा नही हो सका है. हालांकि  इस बात के पीछे कोई ठीक स्पष्ट कारण नहीं जताया गया है. जनसत्ता डॉट कॉम के अनुसार खबर है कि इन पूर्वोत्तर राज्यों में दौरे के बाद चुनाव प्रचार के लिए अमित शाह रैली करने जाते.

जबसे नागरिकता संशोधन विधेयक दोनों सदनों में पास हुआ है, इसके बाद से ही देशभर के लोगों द्वारा इसका पुरजोर विरोध किया जा रहा है. अभी मेघालय में भी राज्य शासन द्वारा अगले 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है.

भारत में अभी जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का भी दौरा होना था, जिसको फिलहाल की स्थिति देखते हुए रद्द कर दिया गया है. शिंजो आबे आसाम के गुवाहाटी में, एक सम्मेलन में शामिल होने के लिए आने वाले थे. लेकिन इधर इन राज्यों के ही हालत सबसे ज्यादा ख़राब हैं, जिसके चलते शिंजो आबे को बुलाना सही नही होगा.

बीते गुरुवार नागरिक संशोधन बिल को लेकर चल रहे प्रोटेस्ट में, तीन प्रदर्शनकारियों की मौ’त हो गई थी. आपको बता दें कि इस विधेयक के खिला’फ भारत के लगभग सभी राज्यों में व्यापक तौर पर धरने और प्रदर्शन हो रहे हैं. देश के सभी कोनों से इस बिल को वापस लेने की मांग उठ रही है.

सबसे ज्यादा बंगाल, आसाम, मेघालय, त्रिपुरा जैसे राज्य हैं. इसके अलावा मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, छत्तीसगढ़ से भी इस बिल को वापस लेने की पुरजोर मांग उठी है. राष्ट्रपति ने इस बिल को मंजूरी दे दी है, अब यह कानून बन गया है, लेकिन इतने प्रदर्शन होने के बाद देखना यह है कि केंद्र सरकार इसको लेकर कोई उपाय ढूँढती या नहीं.

Leave a Comment