कोरोना फैलाने के लिए जिन्हें ठहराया गया था जिम्मेदार, उन्हीं जमातियों ने रोजा तोड़कर बचाई कई लोगों की जिंदगी

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच तबलीगी जमात के लोगों को लेकर कई खबरें सामने आई. एक ओर जहां कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप का जिम्मेदार तबलीगी जमात को बताया गया तो, वहीं दूसरी तरफ इस तबलीगी जमात के कुछ लोग ऐसे हैं जो कोरोना की लड़ाई में सहयोग देने के लिए आगे आ रहे हैं।

तबलीगी जमात के 150 लोगों ने पवित्र रामजान का रोजा तोड़कर प्लाज्मा डोनेट करने और कोरोना से जूझ रहे लोगों की मदद करने की दिशा में कदम बढ़ाया है. जमातियों के इस फैसले की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ़ हो रही है. लेकिन देश का मेनस्ट्रीम मीडिया इसपर ख़ामोश है। जिस तरह उसने कोरोना को लेकर जमातियों को बदनाम किया था।

प्लाज्मा डोनेट करने से पहले डोनर को खाना खाना होता है.

बता दें कोरोना से ठीक हो चुके करीब 150 जमातियों ने दिल्ली के तीन सेंटर्स पर प्लाज्मा डोनेट करने का फैसला किया है.दिल्ली स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से प्लाज्मा कलेक्शन ड्राइव की जिम्मेदारी संभाल रहे डॉ मोहम्मद शोएब अली ने बताया कि तीन क्वारंटीन सेंटर्स पर प्लाज्मा सैंपल कलेक्ट करने का काम किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि 150 तबलीगी जमात के लोगों ने प्लाज्मा डोनेशन की इच्छा जताई है. उन्हें बताया गया कि प्लाज्मा डोनेट करने से पहले डोनर को खाना खाना होता है, ऐसे में जमातियों ने रोजा तोड़कर प्लाज्मा डोनेट करने का फैसला किया।

प्लाज्मा डोनेट करने वाले जमातियों में शामिल पाशा ने कहा कि उन्हें उनके समुदाय के बड़े लोगों ने इस काम के लिए प्रेरित किया है. रोजा तोड़ने पर उन्हें कहा गया कि वो इसके बदले एक दिन का रोजा बाद में रखें वहीं बिजनौर के कहने वाले मोहम्मद उस्मान ने कहा कि नरेला क्वारंटीन सेंटर में करीब 950 कोरोना सं’क्रमि’त हैं।

सेंटर के एडीएम ने उनसे प्लाज्मा डोनेशन के लिए संपर्क किया उन्होंने मुझे प्लाज्मा डोनेट करने के लिए प्रेरित किया उस्मान ने कहा कि 3 दिनों में करीब 120 जमातियों ने अपना प्लाज्मा कोरोना के इलाज के लिए डोनेट किया है।

आपको बता दें कि दिल्ली निजामुद्दीन मरकज के प्रमुख मौलाना साद कांधलवी ने देशभर के जमातियों को, जो कोरोना वायरस के सं’क्रम’ण से उबर चुके हैं उन्हें अपना प्लाज्मा दान करने की अपील की थी एक खुले खत के जरिए मौलाना साद ने लोगों से कोरोना के इलाज में मदद करने के लिए आगे आने की अपील की थी।

Leave a Comment