डॉ. कफील पर मेहरबान कांग्रेस शामिल होने की अटकलें तेज, प्रियंका गांधी ने दिया अपना निजी मोबाइल नंबर

डॉक्टर कफील खान जेल से रिहा होने के बाद राजस्थान पहुंच गए है. करीब आठ महीने जेल में रहने के बाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद उन्हें रिहा किया गया है. इसके बाद से ही कफ़ील लगातार कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के संपर्क में बने हुए है. कफील खान ने जयपुर से एक प्रेस कांफ्रेस की जिसमें उन्होंने बताया कि वो प्रियंका गांधी से सुरक्षा का भरोसा मिलने के बाद ही राजस्थान आए है.

प्रियंका गांधी जब कफील जेल में थे तब से ही उनके परिवार के साथ संपर्क में थी और उन्होंने परिवार को सुरक्षा का भरोसा दिलाया. इसी कड़ी में शुक्रवार को प्रियंका गांधी ने डॉ. कफील खान की पत्नी शबिस्ता खान को फोन करके उनके परिवार का हालचाल जाना और अपना निजी मोबाइल नंबर भी दिया.

इसके सात ही प्रियंका ने उन्हें कहा है कि जब भी जरूरत पड़े तो बेझिझक उन्हें फोन करें. बता दें कि मथुरा जेल से डॉ. कफील खान कुछ कांग्रेसी नेताओं के साथ जयपुर पहुंचे थे. जहां कफील का परिवार भी पहुंच गया है. बताया जा रहा है कि कफील खान की मां, पत्नी, बच्चे और भाई अभी जयपुर के एक रिजॉर्ट में ठहरे हुए हैं.

प्रियंका गांधी ने गुरुवार को कफील खान से भी बातचीत की थी और शुक्रवार को उनकी पत्नी से बात करके परिवार का हालचाल लिया है. मथुरा जेल के गेट से लेकर जयपुर के रिजॉर्ट तक कफील के साथ यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के चेयरमैन शाहनवाज आलम बने हुए थे. उन्होंने कई कफील खान की प्रियंका गांधी से बात कराई.

गुरुवार को कफील खान ने बताया कि प्रियंका गांधी ने हमारी बहुत मदद की है. हमारी रिहाई के लिए कांग्रेस ने भी बहुत संघर्ष किया है. कांग्रेस ने मेरी रिहाई के लिए चल रहे अभियानों का समर्थन किया. आज प्रियंका की सलाह पर ही मैं राजस्थान आया हूं.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस के नेतृत्व वाली अशोक गहलोत की सरकार है, इसलिए हम यहां खुद को काफी सुरक्षित महसूस करते है. हमारे परिवार को भी ऐसा ही लगता है कि अगर हम वापस यूपी जाते है तो मुझे पर फिर से कोई ना कोई केस लगाकर हमें जेल में डाल दिया जाएगा.