अगर भारत में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाई जाए तो, अमेरिका से ज्यादा संक्रमित मामले निकलेंगे: डोनाल्ड ट्रंप

दुनिया भर में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा हैं. तेजी के साथ विश्व में कोरोना संक्र’मण की मामले बढ़ रहे हैं. वहीं भारत की बात की जाए तो देश में अब तक बड़ी तादाद में कोरोना पॉजिटिव सामने आ चुके हैं. इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत में कोरोना संक्र’मण को लेकर एक बयान दिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा भारत में कोरोना सं’क्रमण मरीजों की तादाद अमेरिका से भी ज्यादा है लेकिन टेस्टिंग नहीं होने के चलते हैं मरीज सामने नहीं आ पा रहे हैं.

ऐसा कहने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति पहले व्यक्ति नहीं है, अब तक कई विशेषज्ञ मोदी सरकार को यह सलाह दे चुके हैं कि सरकार कोरोना टेस्टिंग में तेजी लाएं जिससे कोरोना सं’क्रमि’तो की पहचान हो सके. लेकिन सरकार टेस्टिंग में तेजी लाने की वजह इसके उलट इनमें कमी ला रही है.

हाल ही में गुजरात सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस टेस्टिंग को कम कर दिया है. वहीं भारत में लगाए गए लॉकडाउन की बात की जाए तो वह पूरी तरह से असफल रहा है. भारत सरकार अब लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है. जबकि भारत में मरीजों की संख्या 2 लाख से भी अधिक हो चुकी है.

भारत में इस समय प्रतिदिन करीब 9 से 10 हजार नए कोरोना वायरस के मामले पाए जा रहे हैं. सरकार द्वारा दो महीने पहले लॉकडाउन लगाने के बावजूद भी इस तेजी के साथ मरीजों का बढ़ना साबित करता है यह लॉक डाउन पूरी तरीके से विफल रहा है.

अमेरिका में कोरोना वायरस फैलने के साथ ही वहां टेस्टिंग में तेजी लाई गई. जिसके बाद वहां बड़ी तादाद में मरीज सामने आए. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर भारत में सही तरीके से टेस्टिंग की जाए तो भारत में मरीजों की तादाद अमेरिका से भी ज्यादा हो सकती हैं.

केंद्र की मोदी सरकार कोरोना वायरस की टेस्टिंग कम करके मरीजों के आंकड़े छुपाने की कोशिश कर रही हैं. लेकिन मोदी सरकार यह भूल रही है की वह सिर्फ आंकड़े छुपा सकती हैं कोरोना वायरस से सं’क्रमि’त मरीजों को नहीं.

मोदी सरकार ने सबसे बड़ी गलती है यह कि जब सरकार विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस देश ला रही थी तब उनकी एयरपोर्ट पर जांच नहीं की गई. आंकड़ों के अनुसार एयरपोर्ट पर सिर्फ 17% लोगों की स्कैनिंग की गई. देश में कोरोना संक्रमण फैलने के पीछे यही सबसे बड़ा कारण रहा है.

जिस समय मोदी सरकार कोरोनावायरस पर काबू पा सकती थी उस समय माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशवासियों से थाली घंटी बजवाने में व्यस्त थे. मौजूदा हालातों की बात की जाए तो संक्रम’ण दिन वा दिन बेकाबू होता जा रहा हैं.